Lead NewsNational

प्रियंका गांधी पर लगा कविता चोरी का आरोप, पुष्यमित्र ने कहा ‘सुनो द्रोपदी शस्त्र उठा लो’…घटिया राजनीतिक इस्तेमाल के लिए नहीं

New Delhi : आपने कई राजनेताओं को अपने भाषणों में कई कवियों, शायरों या गीतकारों की पंक्तियां इस्तेमाल करते सुना होगा. अभी हाल ही में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी अपने भाषण के दौरान एक कविता की लाइनें इस्तेमाल की थी. इस मामले में एक ट्विस्ट आ गया है.

इसे भी पढ़ें:रांची पहुंची इंडिया और न्यूजीलैंड की टीमें, खेलप्रेमियों को उम्मीद- रांची में सीरीज जीतेगी टीम इंडिया

क्या है मामला

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी कुछ दिनों पूर्व “बहुत हुआ इंतजार अब, सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद ना आएंगे. औरों से कब तक आस लगाओगी”…ये कविता इस्तेमाल की थी. अब इस कविता की चोरी का आरोप कविता के लेखक पुष्यमित्र उपाध्याय ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर लगाया है.

इसके साथ ही लेखक पुष्यमित्र उपाध्याय ने उनकी लिखी कविता के राजनीतिक उपयोग करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है, पुष्यमित्र उपाध्याय ने ये कविता “निर्भया कांड” के समय आहत होकर लिखी थी.

इसे भी पढ़ें:हेमा मालिनी और प्रसून जोशी IFFI में ‘इंडियन फिल्म पर्सनैलिटी ऑफ द ईयर’ पुरस्कार से होंगे सम्मानित

चित्रकूट के रामघाट पर महिलाओं को किया था संबोधित

कवि पुष्यमित्र उपाध्याय ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी पर कविता चोरी का आरोप लगाते हुए कहा है कि ये कविता उन्होंने देश की स्त्रियों के लिए लिखी थी न कि घटिया राजनीति के लिए.

दरअसल उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार 17 नवंबर को चित्रकूट पहुंचीं थी.

उन्होंने पहले मत्स्य गजेन्द्रनाथ मंदिर में जलाभिषेक किया. इसके बाद महिलाओं से संवाद किया. इस संवाद के दौरान उन्होंने चित्रकूट के रामघाट पर महिलाओं को संबोधित करते हुए महिलाओं से यूपी को बदहाली से निकालने के लिए संघर्ष में आगे आने का आह्वान किया, उन्होंने एक कविता पाठ किया, “बहुत हुआ इंतजार अब, सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद ना आएंगे. औरों से कब तक आस लगाओगे.”

इसे भी पढ़ें:डीजीपी ने सभी जिलों के एसपी को दिया निर्देश, वाहनों और संदिग्धों की करें जांच

कवि पुष्यमित्र उपाध्याय ने क्या कहा

अब कविता को लिखने वाले कवि पुष्यमित्र उपाध्याय ने इस पर आपत्ति जताते हुए प्रियंका गांधी को कविता के राजनीतिक उपयोग की अनुमति देने से इनकार कर दिया है, ये जानकारी पुष्यमित्र उपाध्याय ने खुद ट्वीट करके दी है.

कवि पुष्यमित्र उपाध्याय ने कहा कि ये कविता मैंने देश की स्त्रियों के लिए लिखी थी न कि आपकी घटिया राजनीति के लिए. उन्होंने लिखा है कि न तो मैं आपकी विचारधारा का समर्थन करता हूं और न ही मैं आपको अपनी साहित्यिक संपत्ति का राजनैतिक उपयोग की अनुमति देता हूं.

इसे भी पढ़ें: 7वीं-10वीं जेपीएससी के पीटी परीक्षा में पूछे गये चार प्रश्नों के गलत जवाब को लेकर हाइकोर्ट में रिट दायर

Related Articles

Back to top button