Lead NewsWorld

आइसोलेशन में रखे जाने के विवाद के बाद फिलीपीन ने श्रमिकों को सऊदी अरब जाने से रोका

MANILA : फिलीपीन ने कोविड-19 की जांच और पृथक-वास में रखे जाने पर आने वाले खर्च पर विवाद के चलते श्रमिकों को सऊदी अरब भेजे जाने पर रोक लगा दी है. इस अस्थायी प्रतिबंध से हजारों कामगार प्रभावित होंगे.

इनमें शुक्रवार को सऊदी अरब के लिए रवाना होने वाले 400 यात्री भी शामिल हैं जिन्हें फिलीपीन एयरलाइन की उड़ानों में बैठने की अनुमति नहीं दी गयी.

फिलीपीन वैश्विक मजदूरों का प्रमुख स्रोत है. सरकार ने कहा कि उसे पता चला है कि श्रमिकों को सऊदी अरब में कोविड-19 की जांच और पृथक-वास केंद्र में रहने का खर्च देने के लिए कहा जा रहा है.

advt

इसे भी पढ़ें:45 दिनों में कोरोना वायरस के सबसे कम मामले आये, संक्रमण दर घट कर 8.36 पर

श्रम मंत्री सिलवेस्त्रे बेलो तृतीय ने कहा कि सरकारी नियमों के मुताबिक नियुक्ति एजेंसियों या उनके नियोक्ताओं को जांच और सऊदी अरब में पृथक-वास में 10 दिन के उनके ठहरने के साथ-साथ कार्यस्थलों पर पहने जाने वाले रक्षात्मक पोशाकों का भी खर्च उठाना चाहिए.

adv

उन्होंने कहा कि ऐसे खर्च फिलीपीन के कामगारों पर अत्यधिक वित्तीय बोझ डालेंगे. फिलीपीन की यह दंडात्मक कार्रवाई कुछ ही वक्त के लिए प्रभावी हो सकती है क्योंकि बेलो ने शनिवार को कहा कि उन्हें मनीला में सऊदी अरब के राजदूत से आश्वासन मिला है कि सऊदी नियोक्ता ये खर्च उठाएंगे. उन्होंने कहा कि सऊदी अरब से लिखित में आश्वासन मिलने के बाद यह प्रतिबंध हटा लिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें:नयी मुसीबत : अब इंसानों में मिला कुत्तों का कोरोना वायरस, लेकिन चिंता की बात नहीं – रिसर्च

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: