JharkhandPalamu

पलामू: 100 डायल करते ही बुजुर्गों-बीमारों को मिलेगी मेडिकल सुविधा, पुलिस कंट्रोल रूम को बनाया गया प्रभावी

विज्ञापन

Palamu :  कोरोना वायरस (कोविड-19) के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर राज्य में लॉकडाउन है. कई लोग बाहर में फंसे हुए हैं. ऐसे में उनके घरों में रह रहे बुजुर्ग या फिर बीमार व्यक्ति को राहत पहुंचाने की कवायद तेज की गयी है. पलामू जिले में 100 डायल करने पर मेडिकल सहित अन्य जरूरी सुविधाएं दी जायेंगी. इसके लिए कई स्तरों पर प्रभावी तैयारी की गयी है. इसके लिए पुलिस कंट्रोल रूम में एक वाहन उपलब्ध रहेगा. 100 डायल के बाद सूचना मिलती ही डेडिकेटेड टीम के साथ पुलिसकर्मी संबंधित की परेशानी की जानकारी लेकर कार्रवाई करेंगे.

इसे भी पढ़ेंः #Corona : जामताड़ा में एक और कोरोना पॉजिटिव, राज्य में संक्रमितों की संख्या 106 हुई

इसे भी पढ़ेंःमेदिनीनगर सदर एसडीपीओ संदीप कुमार गुप्ता ने 100 डायल के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए आज पुलिस कंट्रोल रूम का जायजा लिया और अधिकारियों और जवानों को कई दिशा निर्देश दिए. एसडीपीओ ने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान सार्वजनिक वाहनों का परिचालन बन्द होने के कारण विभिन्न क्षेत्रों से ऐसी सूचनायें प्राप्त हुई हैं कि वैसे बुजुर्ग पुरूष, महिलायें, दंपति, जिनके पुत्र या रिश्तेदार उनके साथ नहीं रहते हैं, लॉकडाउन के कारण उनके साथ नहीं हैं. बीमारी की हालत में आकस्मिक चिकित्सीय सुविधाएं तथा दवा प्राप्त करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. उनके लिए इस व्यवस्था को प्रभावी बनाया गया है.

advt

इसे भी पढ़ेंः मांग में कमी के बावजूद घंटों कट रही बिजली, 23 अप्रैल से टीटीपीएस यूनिट टू है बंद

 उन्होंने कहा कि हालांकि इसके पहले से ही कंट्रोल रूम में सूचनाएं मिलने पर पहल की जाती रही है. अबतक 250 से अधिक लोगों को मदद पहुंचायी गयी है.

उन्होंने कहा कि तीन शिफ्ट में कार्य होंगे. 24 घंटे सेवा देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. बुजुर्ग पुरूष, महिलायें, जिन्हें चिकित्सीय सुविधा की नितांत आवश्यकता होगी, उन्हें 100 डायल कर पूरी जानकारी देनी होगी. सूचना मिलते ही संबंधित इलाके की थाना पुलिस कार्रवाई करेगी और दवा की उपलब्धता कराएगी.

आकस्मिकता की स्थिति में अपने वाहन से अस्पताल या चिकित्सक के पास पहुंचायेंगी.  इसी तरह यदि इन बुजुर्गों को कोई दवा की आवश्यकता हो और वे अपने अगल-बगल के स्थान से इसे स्वयं प्राप्त करने में सक्षम नहीं हैं, तो पुलिस दवा भी भुगतान के आधार पर दवा दुकान से क्रय कर घर पर उपलब्ध करायेगी.

adv

एसडीपीओ ने कहा कि लोग डायल-100 पर इसकी सूचना दें, पुलिस उन्हें आवश्यक आकस्मिक चिकित्सा सुविधा जल्द से जल्द उपलब्ध कराने का हर सम्भव प्रयास करेगी. यह सुविधा मात्र लॉकडाउन अवधि तक स्वास्थ्य संरचना पर अत्याधिक दबाव के मद्देनजर पुलिस द्वारा दी जा रही है.

इसे भी पढ़ेंः #NewsWingImpact : मंत्री आलमगीर ने कोरोना आपदा से जूझ रही पाकुड़ गौशाला के लिए एक लाख रुपये की अनुशंसा की

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button