Khas-KhabarPalamu

झारखंड में सबसे ठंडा हुआ पलामू, PTR में बदला गया हाथियों का आशियाना

Palamu: पहाड़ी इलाकों में हो रही बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में दिखने लगा है. पिछले दिनों हिमाचल और कश्मीर के कई शहरों में बारिश हुई है. इससे मैदानी इलाकों का तापमान गिर गया है. पलामू का तापमान रविवार को 8 डिग्री सेल्सियस तक चला आया. ठंड के इस मौसम में पलामू का तापमान पहली बार 8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. अधिकतम तापमान 26 डिग्री के आस-पास रिकार्ड किया गया है.

खुले मैदान से कमरे में शिफ्ट हुए हाथी

तापमान के लगातार गिरने से ठंड जानलेवा होते नजर आ रही है. इसका असर जानवरों पर भी दिख रहा है. पलामू टाइगर रिजर्व में सैलानियों के मनोरंजन के लिए खुले स्थान पर तिरपाल में रखे गये दो हाथियों (सीता और मुरूगण) को अब कमरे में शिफ्ट कर दिया गया है. पीटीआर के डिप्टी डायरेक्टर नोर्थ अनिल कुमार मिश्रा ने बताया कि कर्नाट के मंगाये गये दो हाथियों को बेतला नेशनल पार्क से तीन किलोमीटर दूर कवलदह झील के पास रखा गया था. बेतला नेशनल पार्क आने वाले सैलानी कवलदह झील के आस-पास भी घूमने के लिए जाते हैं. सैलानी उन्हें देख सकें इसलिए यह निर्णय लिया गया था, लेकिन अचानक तापमान गिरने से हाथियों को खुले में रखना खतरनाक साबित होता नजर आया. ऐसे में उन्हें वहां से हटाकर कमरे में सुरक्षित रखा गया है.

ठंड कम होने पर हाथियों को पुराने जगह पर लाया जायेगा 

डिप्टी डायरेक्टर ने जानकारी दी कि ठंड कम होने पर हाथियों को पुराने जगह पर लाया जायेगा. उन्होंने कहा कि बेतला में पलामू किला के पास करीब 70 हेक्टेयर ग्रास लैंड चिन्हित किया गया है. जिमसें पार्क का निर्माण किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट ने हाथियों के व्यवसायिक इस्तेमाल पर रोक लगा दी है. जिसके बाद पलामू टाइगर रिजर्व ने एलीफैंट पार्क बनाने का निर्णय लिया है. 2019 के अंत तक एलीफैंट पार्क बनकर तैयार हो जाएगा.

टाइगर प्रोजेक्ट एरिया में हैं पांच हाथी

पालमू टाइगर प्रोजेक्ट ने कर्नाटक से तीन हाथियों को मंगाया है. जबकि पार्क में पहले से दो हाथी व्यवसायिक इस्तेमाल के लिए थे. कर्नाटक से मंगाए गए हाथी को कमलदह झील के पास रखा गया है. जबकि पहले से मौजूद दो हाथियों को पलामू किला के पास रखा गया है. बेतला नेशनल पार्क के इलाके में करीब 186 हाथी है. वहीं नेशनल पार्क के 779 वर्ग किलोमीटर में टाइगर प्रोजेक्ट फैला हुआ है. हाल के दिनों में नेशनल पार्क में हाथियों की संख्या बढ़ी है. बेतला नेशनल पार्क में विदेशों से भी पर्यटक आते हैं. एलीफेंट पार्क के बन जाने से पर्यटकों की संख्या बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है.

इसेभी पढ़ें: समीक्षा बैठक में बोले सीएम – नियमों के अनुकूल दिये जायेंगे पत्थर खदानों के लीज

इसे भी पढ़ें: राजधानी के 13837 भवनों की जानकारी से निगम अंजान, अब कर रहा होल्डिंग्स को निष्क्रिय करने की तैयारी

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close