न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

समीक्षा बैठक में बोले सीएम – नियमों के अनुकूल दिये जायेंगे पत्थर खदानों के लीज

काम पर नहीं लौटनेवाले पारा शिक्षकों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई

84

Ranchi : सीएम रघुवर दास ने कहा है कि पाकुड़ जिले में पत्थर के खदानों से काफी अनियमितताओं की शिकायतें मिली हैं. उन्होंने कहा है कि अब जिले में स्थित पत्थरों के खदान के लिए नियमों के अनुकूल लाइसेंस निर्गत किया जायेगा. नियमित लाइसेंस से सरकार के राजस्व में भी इजाफा होगा. पाकुड़ परिसदन में जिला की योजनाओं की रविवार को समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने सड़क, बिजली, पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार की संभावनाओं पर बल दिया.

उन्होंने कहा कि इस वर्ष के अंत तक घर-घर तक बिजली पहुंचा दी जायेगी. सीएम ने कहा कि राज्य सरकार की प्राथमिकता है कि सभी घरों में स्वच्छ पीने का पानी मिले. इसके लिए डिस्ट्रिक्ट माइनिंग फंड के तहत पाइपलाइन के माध्यम से स्वच्छ पानी पहुंचाने के काम में तेजी लायी जाये. आदिम जनजाति परिवारों को भी पीने के पानी की सुविधा पाइपलाइन के माध्यम से पहुंचायी जायेगी.

काम पर नहीं लौटने वाले पारा शिक्षकों पर होगी कड़ी कार्रवाई

साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा में सुधार के लिए गांव के पढ़े लिखे युवक-युवती को स्कूल में घंटी आधारित रोजगार दिया जाये. इससे उनके जीवन में बदलाव आ जाएगा. उन्होंने कहा कि जो पारा शिक्षक काम पर नहीं लौटना चाहते हैं, उन्हें बर्खास्त करते हुए नोटिस देकर बाहर करें. साथ ही कहा कि टेट पास युवाओं को रिक्त पदों पर बहाल कर स्कूली शिक्षा को निर्बाध गति से जारी रखें.

अस्थिरता फैलाने नहीं दी जायेगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था के साथ किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी. राष्ट्र विरोधी शक्तियों को किसी भी कीमत पर पनपने नहीं दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि बांग्लादेशी घुसपैठियों को रोकने और जबरन धर्मांतरण पर विशेष नजर रखने की जरूरत है. पाकुड़ क्षेत्र से इसकी अधिक शिकायतें मिलती रहती हैं. जबरन धर्मांतरण करानेवालों के खिलाफ उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक से कड़ी कार्रवाई करने का आदेश भी सीएम ने दिया गया.

इसे भी पढ़ें – बोकारो में करीब 10 करोड़ के तेल का खेल, जांच रिपोर्ट दबा दी गयी, मंत्री ने रिकॉर्ड मंगाकर शुरू की जांच

इसे भी पढ़ें – राजधानी का सबसे ऊंचा अपार्टमेंट बना है पहनई जमीन पर, हाई कोर्ट ने एसएआर कोर्ट के आदेश पर फैसला सुरक्षित रखा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: