न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : 24 वर्षीय युवक का अनोखा कारनामा, एक्वेरियम वाला कूलर बनाकर किया कमाल  

870

Palamu : भारत सहित पूरे विश्व में वैज्ञानिक हर दिन नए-नए अविष्कार करते रहते हैं. लेकिनअगर कोई आम युवक ऐसा करे तो यह चर्चा का विषय बन जाता है. पलामू जिले में कुछ इसी तरह नए-नए अविष्कार कर सुर्खियां बटोरने वाले  24 वर्षीय एक युवक ने अब एक्वेरियम वाला कूलर बनाकर हलचल मचा दी है. मो. जुनैद नाम के इस युवक ने एक ऐसा कूलर का इजाद किया है, जिसमें फिश एक्वेरियम भी लगा है.

इसे भी पढ़ें- रोड शो कर रहे थे केजरीवाल, एक युवक ने थप्पड़ मारा, पुलिस हिरासत में  

कला के छात्र का इंजीनियरिंग में लगता है मन   

दरअसल, नये-नये इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का अवष्किार करना अब्दुल बहाफ खलीफा के पुत्र जुनैद की हाॅबी है. जिला मुख्यालय मेदिनीनगर से सटे चैनपुर के शाहपुर निवासी जुनैद में आज तक इंजीनियरिंग और विज्ञान की पढ़ायी नहीं की है. वह तो कला संकाय का छात्र रहा है. जुनैद के पिता सिलाई-कटाई के कारीगर हैं. इसी से वे अपना परिवार चलाते हैं.

इसे भी पढ़ें- नीतीश ने मसूद अजहर के वैश्विक आतंकवादी घोषित होने पर की मोदी की तारीफ, साधा लालू पर निशाना

आर्थिक रूप से कमजोर है जुनैद का परिवार

मो. जुनैद

जुनैद और उसका परिवार आर्थिक रूप से भले ही बेहद कमजोर हो, लेकिन जुनैद का तेज दिमाग और उसका जज्बा उसे हर दिन कुछ नया करने को प्रेरित करता है. अब से चार साल पहले उसने एक ऐसा मोबाइल डिवाइस बनाया था, जिसके जरिये कोसों दूर रहकर भी घर में लगे बिजली उपकरणों को नियंत्रित किया जा सकता है. इसके अलावा सोलर एनर्जी से चलने वाला कार भी बना चुका है. जुनैद का अगला सपना एक ऐसा डिवाइस बनाने का है, जिससे बिना ड्राइवर के कार को चलाया जा सके.

इसे भी पढ़ें- केजरीवाल पर बार-बार होने वाले हमलों के पीछे BJP का हाथ : AAP

ठंडी हवा और रंग-बिरंगी मछलियों का मजा एक साथ   

SMILE

अब जुनैद ने एक ही ढांचे में कूलर और फिश एक्वेरियम का निर्माण कर हलचल मचा दी है. जुनैद ने कूलर की पानी टंकी को एक्वेरियम का रूप दिया है. जहां रंग-बिरंगी मछलियां तैरती नजर आयेंगी. मतलब लोग ठंडी हवा और रंग-बिरंगी मछलियों का मजा एक साथ ले सकेंगे. मो. जुनैद बताते हैं कि उसने कूलर के बेसमेंट को एक्यूवेरियम का स्वरूप दिया है, जो पारदर्शी शीशे से बना है. जुनैद का कहना है कि एक्वेरियम के पानी का इस्तेमाल ही कूलर में होता है. इससे लोगों को ठंडी हवा तो मिलती ही है, मछलियां भी इससे लाभाविन्त होती हैं और गर्मी में भी उनकी जान को खतरा नहीं होता.

इसे भी पढ़ें- अनंतनाग में BJP नेता की आतंकियों ने गोली मारकर की हत्या

सात हजार रूपये का आता है खर्च

मो. जुनैद ने बताया कि दो फीट गुणा दो फीट के कूलर (एक्वेरियम के साथ) के निर्माण पर उसे लगभग सात हजार रूपये का खर्च आता है. उसने बताया कि इस प्रकार के आठ-दस कूलर वो बेच चुका है. लोगों को यह बेहद पसंद आ रहा है.

जुनैद ने इसकी दुकान नहीं खोल रखी है, लेकिन जो भी उसके इस अनोखे अविष्कार को देखता है, मुरीद बन जाता है. जुनैद का कहना है कि अगर किसी को एक्यूवेरियम वाला कूलर बनवाना हो तो वे 8102894059 पर संपर्क कर सकते हैं. बहरहाल, आर्थिक रूप से सशक्त नहीं होने के बाद भी मो. जुनैद द्वारा अनोखा इजाद करना सबको हैरत में डालता है.

इसे भी पढ़ें- CJI यौन उत्पीड़न केस : दो जजों ने जांच कमेटी से जताई आपत्ती, कहा- पीड़िता के बिना सुनवाई ठीक नहीं

कैसे मिली प्रेरणा?

मो. जुनैद ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को जानने और समझने की ललक उसमें बचपन से ही रही है. वो अपने प्रयोग से छोटे-मोटे कारनामे पहले भी किया करता था. इसी बीच साल 2015 में शाहपुर में राजकीय मध्य विद्यालय में पदस्थापित ‘महेन्द्र सर’ ने एक बार जुनैद से कहा कि अगर कारनामा ही करना है तो कोई बड़ा कारनामा कर दिखाओ.

महेन्द्र सर ने कहा कि ऐसा डिवाइस तैयार करो, ताकि लोग घर पर ना रहते हुए भी अपने इलेक्ट्राॅनिक उपकरणों को ऑन-ऑफ कर सकें. मो. जुनेद ने शिक्षक की बात को गंभीरता से लिया और बिना प्रशिक्षण पहले उस इलेक्ट्राॅनिक डिवाइस को बनाया और फिर एक्वेरियम वाला कूलर बनाकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा दिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: