न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एजी कार्यालय के ऑडिटर पर नाबालिग से छेड़छाड़ करने और दुष्कर्म की धमकी देने का मामला दर्ज

राजधानी के पॉश इलाके नॉर्थ ऑफिस पाड़ा, डोरंडा में एजी ऑफिस के ऑडिटर और उसके परिवार पर नाबालिग बच्ची से छेड़छाड़, मारपीट और रेप की धमकी देने का मामला सामने आया है.

210

–     डोरंडा थाना ने नहीं की कार्रवाई तो पीड़िता ने महिला थाना में की शिकायत

Ranchi: देश और राज्य में हो रहे घोटाले का खुलासा करने वाली संस्था एजी (महालेखाकार) कार्यालय में काम करने वाले अफसर पर महिला थाने में मामला दर्ज हुआ है. राजधानी के पॉश इलाके नॉर्थ ऑफिस पाड़ा, डोरंडा में एजी ऑफिस के ऑडिटर और उसके परिवार पर नाबालिग बच्ची से छेड़छाड़, मारपीट और रेप की धमकी देने का मामला सामने आया है. दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि एजी ऑफिस में काम करने वाले सुरेंद्र कुमार और उसके रिश्तेदार नवीन कुमार पिछले काफी दिनों से डोरंडा इलाके के प्रेमा अपार्टमेंट में रहनेवाली एक महिला और उनकी बेटियों के साथ दुर्व्यहार कर रहे थे. दीवाली की रात पटाखा फोड़ने से मना करने पर सुरेंद्र कुमार, उनके बेटे और पत्नी ने दुर्व्यवहार करते हुए गाली-गलौज की और असंसदीय भाषा का प्रयोग करते हुए उनका रेप करने की धमकी दी. इस मामले में डोरंडा थाना को सूचित किया गया. डोरंडा थाना ने इस मामले में शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की. पीड़ित पक्ष ने आखिरकार महिला थाना में आवेदन दिया. जिसपर महिला थाना में मामला दर्ज कर लिया गया है.

इसे भी पढ़ें – News Wing Breaking :  बदल जायेगा राज्य का प्रशासनिक ढांंचा ! एचआर पॉलिसी, क्षेत्रीय प्रशासन, परिदान…

लगातार परेशान किया जा रहा था

आरोपियों में एजी अफसर सुरेंद्र कुमार, सोनी कुमारी, सार्थक कुमार और सत्यम कुमार के नाम हैं. इन पर आईपीसी की धारा 506, 509, 34 और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. महिला थाना में दिये गये आवेदन में महिला की बेटी ने कहा है कि सुरेंद्र कुमार और उनके परिवार के लोग पिछले कुछ महीनों से उन्हें लगातार परेशान कर रहे हैं. उनके सामने भद्दे इशारे करते हैं और उनके साथ गाली-गलौज और मारपीट करते हैं.

silk_park

इसे भी पढ़ें – 11 लाख को पानी पिलाने की योजना ठंडे बस्ते में,1100 करोड़ की योजनायें लंबित

क्या कहा गया है आवेदन में

महिला की बेटी की तरफ से दिये गये आवेदन में कहा गया है कि सुरेंद्र कुमार, उनके बेटों और उनकी पत्नी अक्सर उनके साथ गाली-गलौज और मारपीट करते थे. उन्हें गंदे इशारे करते थे. उनकी 11 वर्षीय बहन को गलत नीयत से छूते थे. डर-डर कर उसने इस बात की जानकारी अपने माता-पिता को दी. सुरेंद्र कुमार का बड़ा बेटा जब भी रांची में रहता है, तो वह महिला की बेटी पर भद्दे कमेंट करता था और गंदे इशारे करता था. सुरेंद्र कुमार का छोटा बेटा दीवाली के दिन उनके दरवाजे के सामने तेज आवाज वाला पटाखा फोड़ने की कोशिश कर रहा था. जिसे मना करने पर वे सभी मारपीट पर उतारू हो गये. वह अपना क्रिकेट बैट लेकर आया और महिला को मारने की कोशिश करने लगा. चीख-पुकार सुनकर बिल्डिंग में रहनेवाले अन्य लोग वहां जमा हो गये. उनकी वजह से ही मेरे माता-पिता की जान बच सकी. जब मैं इस घटना की रिकॉर्डिंग करने की कोशिश करने लगी तो सुरेंद्र कुमार और उसके बेटे ने मुझे रेप करने की धमकी दी और हाथ से गंदे-गंदे इशारे करने लगे. आवेदन में कहा गया है कि आरोपियों पर कार्रवाई कर उन्हें सुरक्षा दी जाये.

इसे भी पढ़ें – विभागों में निलंबित करने और निलंबन मुक्त करने के लिए काम करती है लॉबी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: