JharkhandMain SliderRanchi

मुरीः 3 पोकलेन,7 जेसीबी और 2 ट्रैक्टर जमींदोज, कई मजदूरों के दबकर मरने की आशंका, देखें वीडियो

Ranchi: मुरी के पास हिंडाल्को के निकट जमीन धंसने से 3 पोकलेन ,7 जेसीबी और 2 ट्रैक्टर जमींदोज हो गए. इस घटना में 10 से ज्यादा मजदूरों के दबने की आशंका है. हालांकि यह संख्या बढ़ने की भी आशंका है.

एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल) की टीम घटना स्थल पर पहुंच गयी है. इससे पूरे इलाके में अफरातफरी का माहौल है. घटना में फिलहाल 10 लोगों के दबकर मरने की आशंका है. एनडीआरफ की टीम की ओर से लोगों के रेस्क्यू का काम जोरशोर से जारी है. इस दौरान कई लोगों को बचाया भी गया है.

advt

गौरतलब है कि मूरी में हिंडाल्को के निकट एक परित्यक्त खदान को भरने के लिए उस पर मिट्टी डाल दी गयी थी.

पिछले कई दिनों से इसके ऊपर से हाइवा का आना जाना हो रहा था. इसी दौरान परित्यक्त खदान के पास जमीन के धंस जाने से पांच हाइवा के दब जाने से सूचना मिल रही है.

हादसे में हाइवा पर सवार मजदूर भी जमीन में दब गये हैं. आसपास के इलाके के लोगों भीड़ जमा होना शुरू हो गयी है. बताया जा रहा है कि इसमें जमीन में दबे मजदूरों और हाइवा चालकों के परिजन भी हो सकते हैं.

adv

फिलहाल एनडीआरएफ टीम की ओर से बचाव का कार्य जारी है. करीब 12 से अधिक मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाला गया है.

कैसे घटी घटना  

मिली जानकारी के अनुसार सिल्ली थाना क्षेत्र के मूरी में हिंडाल्को के पास खदान को भरने के लिए उसके ऊपर मिट्टी डाल दी गयी थी. उसके ऊपर से हाइवा गुजर रहे थे.

इसी दौरान हाइवा तीन हाइवा 7 जेसीबी और 2 ट्रैक्टर जमींदोज हो गए . हालांकि स्थानीय लोगों के द्वारा कई मजदूरों को बाहर भी निकाला गया.

लेकिन अभी भी कई मजदूर जमीन के अंदर फंसे हुए हैं. कितने लोगों की मौत हुई है, इसकी पुष्टि नहीं हो पायी है.

कास्टिक तालाब का बांध का बांध टूटने से बहने लगा पानी

एक अन्य जानकारी के अनुसार मुरी हिंडाल्को का कास्टिक तालाब का बांध अचानक टूट गया. इसका पानी परित्यक्त खदान की ओर बहने लगा. इस दौरान लगभग पांच हाइवा जमीन में धंस गये.

इधर टूटे हुए बांध का पानी स्टेशन के पास तक आ गया. मौके पर हिंडाल्को के अधिकारी, पुलिस अधिकारी और बचाव दल की टीम सक्रिय है.

जानमाल का नहीं हुआ नुकसान, चार मजदूर हुए घायलः प्रबंधन

इस घटना के बाद मुरी वर्क्स प्रबंधन के प्रमुख व कंपनी के उपाध्यक्ष एनएन रॉय ने कहा कि इस घटना की प्राथमिक जांच में यह पता चला है कि इससे किसी प्रकार के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है. चार मजदूरों को हल्की चोटें आयी हैं जिनका इलाज करा दिया गया है. साथ ही इस घटना से आसपास की पारिस्थितकी को भी नुकसान नहीं पहुंचा है.

क्या कहते हैं अधिकारी

सिल्ली डीएसपी चंद्रशेखर आजाद से बात करने पर उन्होंने बताया कि जमीन के धंसने से  घटना हुई है.

इस घटना में कितने लोग हताहत हुए हैं अभी इसकी कोई जानकारी नहीं मिली है. राहत बचाव कार्य जारी है.

इसे भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीरः अस्पताल में RSS से जुड़े नेता पर फायरिंग-जख्मी, बॉडीगार्ड की मौत

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button