न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#CitizenshipAmendmentBill पर मोदी कैबिनेट की मुहर, संसद में  पेश करने की कवायद शुरू, कांग्रेस ने अंसवैधानिक बताया  

सरकार भारत में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफ़गानिस्तान से आकर यहां अवैध ढंग से रह रहे लोगों को भी नागरिकता देने की तैयारी कर रही है, बशर्ते वे मुसलमान न हों.

192

NewDelhi : केंद्रीय कैबिनेट ने नागरिकता संशोधन बिल पर बुधवार को सहमति जताते हुए इस पर मुहर लगा दी है. सरकार इस बिल को इसी सप्ताह लोकसभा के शीतकालीन सत्र में पेश करने की तैयारी में हैं. नागरिकता संशोधन बिल के तहत अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के अवैध प्रवासियों को नागरिकता दी जा सकेगी. हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई अवैध प्रवासियों को इस बिल का लाभ मिलेगा. मुसलमानों को इस दायरे से बाहर रखा गया है.

इसे भी पढ़ें : #RapeAccused भगोड़े #Nityananda ने इक्वाडोर में आइलैंड खरीदा,  हिंदू देश घोषित कर नाम रखा कैलासा

Aqua Spa Salon 5/02/2020

पूर्वोत्तर राज्यों सहित कई दल इसका विरोध कर रहे हैं

खबर है कि अब मोदी सरकार का पूरा फोकस नागरिकता संशोधन बिल पारित करवाने पर है. सूत्रों के अनुसार सरकार अगले सप्ताह लोकसभा में बिल पेश करने की कवायद में है.  जान लें कि पूर्वोत्तर राज्यों सहित कई दल इसका विरोध कर रहे हैं. सरकार भारत में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफ़गानिस्तान से आकर यहां अवैध ढंग से रह रहे लोगों को भी नागरिकता देने की तैयारी कर रही है, बशर्ते वे मुसलमान न हों.

इसे भी पढ़ें :  #Chhattisgarh : #ITBPCamp में एक जवान ने साथी जवानों पर फायरिंग की, छह की मौत, उसे भी मार गिराया गया

Related Posts

#Delhi_ Violence : जांच के लिए दो एसआइटी का गठन,  आप पार्षद ताहिर हुसैन पर एफआइआर दर्ज, फैक्ट्री सील

दिल्ली हिंसा की जांच के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया गया है.  दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के तहत दो एसआईटी का गठन किया गया है.

यह संविधान विरोधी बिल है : टीएमसी

भाजपा इस कानून को जरूरी बता रही है,  सूत्रों के अनुसार अगले सप्ताह अमित शाह इसे संसद में पेश कर सकते हैं. कांग्रेस इसे अंसवैधानिक बता रही है. उसके अनुसार नागरिकता संशोधन बिल भारत की बुनियादी कल्पना के खिलाफ  है.  टीएमसी के अनुसार  असम के नागरिकता रजिस्टर से बाहर रह गये गैरमुस्लिम समुदाय के लोगों को फिर से नागरिकता देने के लिए बिल लाने की हड़बड़ी की जा रही है.

टीएमसी नेता सौगत रे  ने कहा कि हम  नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हैं. यह संविधान विरोधी बिल है. एनआरसी के मुद्दे पर जो रिएक्शन हो रहा है, उसे कवर अप करने के लिए सरकार य बिल लाने की तैयारी कर रही है.

इसे भी पढ़ें : #INXMediaCase: 106 दिनों बाद जेल से बाहर आएंगे पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम, सुप्रीम कोर्ट ने दी बेल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like