National

#RapeAccused भगोड़े #Nityananda ने इक्वाडोर में आइलैंड खरीदा,  हिंदू देश घोषित कर नाम रखा कैलासा

NewDelhi :  रेप का आरोपी फरार बाबा नित्यानंद ने साउथ अमेरिका के एक देश इक्वाडोर से एक आइलैंड खरीदा है और उसे आजाद देश  घोषित कर कैलासा नामकरण किया है.  मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार  नित्यानंद  ने इसके नाम की एक वेबसाइट भी बनाई है, जिसमें  कैलासा को हिंदू राष्ट्र करार दिया गया है.

कैलासा की वेबसाइट के अनुसार, यह आइलैंड त्रिनिदाद और टोबैगो देशों के पास है. इसमें किसी एक देश की तरह तमाम सरकारी पदों पर लोग नियुक्त किया गये हैं. प्रधानमंत्री, कैबिनेट मंत्री, सेना प्रमुख आदि नियुक्त किये गये हैं.   खबरों के अनुसार नित्यानंद ने अपने एक करीबी अनुयायी मां  को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है. वेबसाइट पर संविधान  की जानकारी दी गयी है.

इसे भी पढ़ें : #Chhattisgarh : #ITBPCamp में एक जवान ने साथी जवानों पर फायरिंग की, छह की मौत, उसे भी मार गिराया गया

Catalyst IAS
ram janam hospital

मंत्रालय, विभाग और एजेंसी बनाने का  दावा

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

नित्यानंद ने अपने देश का अलग झंडा भी बनाया है. कई मंत्रालय, विभाग और एजेंसी बनाने का भी दावा किया गया है. साथ ही राष्ट्रीय पशु, राष्ट्रीय पक्षी, राष्ट्रीय फूल और राष्ट्रीय पेड़ जैसी चीजों की घोषणा की गयी है. . यह भी  कहा गया है कि   कि अगर कोई यहां का नागरिक बनना चाहता है तो डोनेशन देकर वहां रहने आ सकता है.

इसे भी पढ़ें :  #INXMediaCase: 106 दिनों बाद जेल से बाहर आएंगे पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम, सुप्रीम कोर्ट ने दी बेल

कैलासा एक गैर राजनीतिक देश है

वेबसाइट के अनुसार  कैलासा एक गैर राजनीतिक देश है और मानवता उसका मकसद है. यह देश हिंदू धर्म की सभ्यता और संस्कृति के अनुसार चलेगा, जो कई देशों से विलुप्त हो रही है.  कैलासा के लिए पासपोर्ट के दो तरह के पासपोर्ट बनाये गये हैं. एक सुनहरे रंग का और दूसरा लाल. झंडे का रंग मैरून है. इस पर दो प्रतीक हैं. एक सिंहासन पर नित्यानंद और दूसरे पर एक नंदी है.

अनुयायियों के साथ बलात्कार और बच्चों को अगवा करने का आरोपी नित्यानंद देश छोड़कर भाग चुका है. गुजरात पुलिस ने यह कहा था. उसे वापस लाने के लिए पुलिस विदेश मंत्रालय के साथ काम कर रही है.

इसे भी पढ़ें :  #UnnaoRapeCase: सुनवाई में देरी को लेकर प्रियंका गांधी ने उठाये सवाल, कहा- लटका पड़ा ट्रायल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button