Corona_UpdatesOpinion

होम्योपैथिक चिकित्सा द्वारा कोविड-19 का प्रबंधन

Dr Rajeev Kumar

advt

कोरोना संक्रमण से पूरा देश आज जूझ रहा है. लोग हर तरह के उपाय अपना रहे हैं. इसमें होम्योपैथिक दवा कोविड-19 के हर लक्षण को दूर करने में अपना असर दिखा रही है.

अपने निजी अनुभव के आधार पर इसको मरीजों को दे रहा हूं. इससे आशातीत लाभ मिल रहा है. यह एक होम्योपैथी पद्धति के द्वारा मेरा एक प्रयास है.

कोविड-19 के लक्षण क्या हैं?

  • निरंतर बुखार रहना
  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • सूखी या गिली खांसी होना
  • शरीर में ऑक्सीजन की कमी होना
  • बदन दर्द होना
  • कमजोरी लगना

बचाव हेतु

  • आर्सेनिक एएलबी 30 और इम्युनिटी बूस्टर दवा लें.
  • लक्षण रहित कोविड-19 सामान्य केस में आर्सेनिक एएलबी 200, ब्राओनिया 200 और कैंफोरा 200 लें.
  • हल्के कोविड 19 पॉजिटिव केस (इसमें गला खराब, उल्टी, पतली दस्त, पेट दर्द, चक्कर होना लक्षण होते हैं) में अन्तिम टार्ट 30, आईपीकैक 30, कोकुलस इंडिकस 30, चाइना 200, आर एल 26, थ्रोट ड्रॉप 200, आर एल 73, फैब्रिसोम दवा लें.
  • मध्यम कोविड 19 पॉजिटिव केस (इसमें निमोनिया के लक्षण जैसे बुखार, खांसी, पर साँस में कमी हाइपोक्सिया का न होना) में अन्तिम टार्ट 30, हेपर सल्फ 30, बैपटीशिया क्यू, जेलसीमियम क्यू, चाइना क्यू, कफ ड्रॉप, आर एल 32, कार्बो वेज 30, फीवर टॉनिक लें.

कोविड-19 के पश्चात लक्षण

खांसी, कमजोरी, चक्कर आना, भूख ना लगना, नाक से सुगंध और मुंह में स्वाद ना आना. इसके लिए पलसतीला 30, रूमेक्स क्रिस्पस 30, चाइना क्यू, सुपर सेवन, जेल्सीमियम 30, कफ ड्रॉप, आर एल 32, नटरूम मूर 30 लें.

इसे भी पढ़ें:बाबूलाल मरांडी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को लिखा पत्र, कहा- कागजों पर इंस्टॉल हुए 574 वेंटिलेटर

लंग्स या फेफड़े की मजबूती के लिए

होम्योपैथी की जस्टीसिया क्यू और सेनेगा क्यू को आप 10-10 बूंद सुबह, दोपहर, शाम 3 टाइम लेते हैं तो यह कफ जमने से बचाएगा. साथ ही अन्तिम टार्ट 30, 4 बूंद दिन में तीन बार. यदि इन तीनों दवाइयों को लेते हैं तो लंग्स में कफ जमने की समस्या ना के बराबर होगी और लंग्स को मजबूती भी मिलेगी.

सांस की दिक्कत या ऑक्सीजन की कमी हो तो

जिन्हें सांस लेने में परेशानी हो रही हो और ऑक्सीजन लेवल गिर रहा हो, उस स्थिति में एस्पिडो स्पर्मा क्यू दवाई की 10-10 बूंद दिन भर में 3 से 5 बार लें. इसे सांकेतिक तौर पर होम्योपैथी का ऑक्सीजन भी कहते हैं. कारबो वेज 30 की चार बूंदें 3 से 5 बार लेते हैं.

यह बॉडी में ऑक्सीजन लेवल को गिरने नहीं देता है और साथ ही साथ एलर्जी मिक्स दवाई दिन भर में, इसको भी आप 3-5 बार अपने शरीर की आवश्यकता अनुसार भी ले सकते हैं. वैनेडियम मेट 30 2-2 बूंद दिन भर में 3 बार लें.

इसे भी पढ़ें:हर डॉक्टर भगवान नहीं होता, कुछ नवीन कुमार भी होते हैं

यदि बुखार कम ना हो रहा हो

होम्योपैथी में फेवरेकससिरप आती है. इसके दो-दो चम्मच तीन से चार बार लें और बैपटीशिया क्यू, जेल्सीमियम क्यू, चाइना क्यू मिलकर 20-20 बूंद तीन बार लें तो यह बुखार से राहत दिलाने में काफी कारगर साबित होगी.

इसके अलावा बदन दर्द के लिए

रस्टॉकस 200, यूपा टोरियम पार्फ 200, ब्रायोनिया 200. इन तीन दवाओं के मिक्सर को 4-4 बूंद तीन बार लेने से बदन दर्द से राहत मिलती है. साथ ही साथ आरएल 35 2-2 चम्मच 3 बार रूमियम ऑयल के साथ लें.

यदि आपको नाक से सुगंध और मुंह से किसी भी चीज का स्वाद नहीं आ रहा हो तो न्यूट्रम मूर 30 2-2 बूंद तीन बार, पुलसत्तीला 30 2-2 बूंद तीन बार और साइनो लेक्स 20-20 बूंद तीन बार सेवन करने से आराम मिलेगा.

यदि संक्रमण के बाद कमजोरी की समस्या देखने को मिल रही है तो अल्फा अल्फा क्यू और चाइना क्यू की 10-10 बूंदें तीन बार लेने से कमजोरी और थकान से राहत मिलेगी.

अपना बचाव करके ही हम हर संक्रमण से दूर रह सकते हैं

  • अधिक से अधिक गर्म पानी का सेवन करें.
  • दिन में दो बार भाप लें
  • अपने घर में भी एक दूसरे से दूरी बनाकर रखें.
  • शरीर में किसी भी तरह के लक्षण दिखे तो अनदेखा न करें.
  • खाली पेट बिल्कुल ना रहें.
  • घर के हर एक व्यक्ति अलग-अलग सामान प्रयोग करें, जैसे गिलास, टॉवल इत्यादि.
  • मास्क और सैनिटाइजर का प्रयोग करें.
  • यदि किसी प्रकार की दिक्कत हो तो चिकित्सक पैनलिस्ट से संपर्क करें.
  • नकारात्मक सोच से बचें अपने आप को व्यस्त रखें.

इसे भी पढ़ें:मंत्री आलमगीर आलम के छोटे भाई का निधन, सीएम हेमंत सोरेन ने जताया शोक

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: