न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Category

Opinion

तो क्या रघुवर दास और राजबाला वर्मा ने 35 लाख लोगों को तीन साल तक भूखे रखने का पाप किया

Surjit Singhवर्ष 2014 के दिसंबर से लेकर दिसंबर 2019 तक झारखंड में रघुवर की सरकार थी. उसके मुखिया कहते थेः बहुमत की सरकार, जीरो टॉलरेंस की सरकार, गरीबों की सरकार, मजदूरों की सरकार. यह एक तथ्य है. पर, क्या यह सच है ? बहुत कम लोग इससे सहमत…

मोहन भागवत को राष्ट्रवाद को ऐसे देखना चाहिए

Priyadarshanराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत को शायद अब पता चला है कि राष्ट्रवाद को दुनिया भर में एक ख़तरनाक और संदिग्ध विचार माना जाता है क्योंकि इससे हिटलर और मुसोलिनी जैसे उन नेताओं के नाम जुड़े हैं जिन्होंने…

असहमति को राष्ट्रविरोधी कहना लोकतंत्र पर हमला है

Faisal Anuragदुनिया भर में लोकतंत्र के हालात पर चिंता प्रकट की जा रही है. भारत सहित दुनिया के कई देशों में प्रतिरोध से निपटने के जो तरीके सरकारें अपना रही हैं, उसके खिलाफ आवाज भी बुलंद होने लगी है. फ्रांस में जहां श्रमिकों के आंदोलनों…

जबेदा को नागरिकता प्रमाणित करने के लिए और कितनी अग्निपरीक्षा से गुजरना होगा   

Krishnakantजबेदा बेगम की कहानी बताती है कि एक महिला अपनी नागरिकता प्रमाणित करने के लिए क्या-क्या तकलीफ उठाती है. बावजूद वह नागरिकता साबित नहीं कर पाती. यह कहानी सिर्फ उसकी नहीं है. असम में 19 लाख में कई कहानियां इसी तरह की हैं, जहां एक…

शाहीनबाग के लिए सुप्रीम कोर्ट से वार्ताकार नियुक्त होना मोदी सरकार की बड़ी विफलता

Faisal Anuragकेंद्र सरकार शाहीनबाग के आंदोलनकारियों से न तो कोइ बात कर रही है और न ही देशभर में चल रहे प्रतिरोधों को लोकतांत्रिक तरीके से हल करने की पहल. सुप्रीम कोर्ट ने वार्ताकारों की नियुक्ति कर ये सवाल खड़ा किया है. लोकतंत्र में…

#DhulluMahto : क्या सिस्टम और पुलिस-प्रशासन इस आरोप से मुक्त हो पायेगा कि वह गुलाम नहीं है

Surjit Singhधनबाद, कोयलांचल की राजधानी. कतरास, बाघमारा और ढुल्लू महतो. पिछले पांच-सात सालों से यह नाम हमेशा सुर्खियों में रहा. कभी पुलिस पर हमला कर गिरफ्तार आरोपी को छुड़ाने के लिये. कभी जेल में रहते हुए इलाज के बहाने दिल्ली जाकर…

बीजेपी में वापसी से उभरी बाबूलाल की छवि राजनीति की त्रासदी ही है

Faisal Anuragझारखंड की राजनीति को दल बदलने वाले तीन नेता कितना बदल पाएंगे. बाबूलाल मरांडी ने अपने ही दल और विचारों को भारतीय जनता पार्टी के साथ विलय किया, तो उन्हीं के दल के दो अन्य विधायकों प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने कांग्रेस का…

मोदी राज में दिन दूनी रात चौगुनी रफ्तार से बढ़ रहे हैं बैंक फ्रॉड के मामले

Girish Malviyaक्या आप यकीन करेंगे कि 2019 से पहले 11 वित्त वर्ष में बैंक फ्रॉड के कुल 53,334 मामलों में 2 लाख 5 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई थी, लेकिन इस वित्त वर्ष 2019-20 के सिर्फ 9 महीनों में ही बैंक फ्रॉड के कुल 8926 मामले दर्ज…