न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Category

Opinion

कोई भी धर्म प्यार ही सिखाता है, प्रॉब्लम तो यहां से शुरू होती है…

Dr Mahfooz Alamधर्म आतंकवादी नहीं बनाता बल्कि आतंकवादी को धर्म का चोला पहना दिया जाता है. कोई भी आतंकवादी रातों- त नहीं बनता है, बल्कि कई वर्षों तक उसके मस्तिष्क में घृणा,  द्वेष, अवसाद और कभी-कभी बदले की भावना भी रहती है. कभी यह भावना…

क्या अटॉर्नी जनरल ने सुप्रीम कोर्ट में आधा सच बयां किया ?

Major General Harsha Kakar (Retd)सैन्य अधिकारियों द्वारा सरकार के खिलाफ दायर किए गए गैर-कार्यशील उन्नयन मामले में सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई के अंतिम दिन के दौरान दावा किया गया है कि अटॉर्नी जनरल ने कुछ चौंकाने वाले बयान दिए हैं.…

मुस्लिम समाजः आतंकवाद से सबसे ज्यादा नुकसान मुस्लिम समाज को ही हुआ है

MD. MAHFUZभारतीय मुसलमानों को जितनी घृणा साम्प्रदायिकता, उग्रवाद से है उतनी ही नफ़रत आतंकवाद से है.  जब भी देश में कोई आतंकवादी घटना होती है, सबसे अधिक प्रभावित होने वाला समाज मुस्लिम समाज है.  ऐसी घटनाओं के बाद उसकी…

बहुमत से दूर नजर आती है बीजेपी

Manoj Kumarगत लोकसभा चुनाव 2014 में बीजेपी को अकेले बहुमत यानी 282 सीटें प्राप्त हुई थी तथा एनडीए के खाते में 336 सीटें गयी थी. उस चुनाव में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए का प्रदर्शन अप्रत्याशित था. सन 1984 के चुनाव के बाद यानी 30…

पुष्पगीत…याद आता रहेगा…अपनी उसी ताकत, मुस्कान और शरारतों के साथ

Zeb Akhtarइंदौर से एक पत्रकार मित्र का फोन आया कि पुष्पगीत नहीं रहा. सुनते ही जैसे काठ-सा मार गया हो. बहुत देर तक यकीन ही नहीं हो सका. वजह ये थी कि पुष्पगीत को जब भी देखा था, हंसते हुए ही देखा था. जब भी मिला था एक नटखट और बच्चों जैसी…

गठबंधन के नाम पर भाजपा ले रही है नहीं लेने वाले फैसले

FAISAL ANURAGभारतीय जनता पार्टी का आत्मविश्वास डगमगाया हुआ है. गठबंधन साधने के नाम पर भाजपा जिस तरह के  कदम उठा रही है, उससे जाहिर होता है कि भाजपा लोकसभा चुनाव में अपनी जीत को लेकर सशंकित है. पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक के बाद भाजपा ने जिस…

सिर्फ देशभक्ति या देशप्रेम भी जरूरी है?

मैं देशप्रेम को ही चुनूँगा क्योंकि उसे चुनने के लिए मेरे पास कई कारण हैं. आप मेरी बात से सहमत या असहमत भी हो सकते, मगर एक भक्त और प्रेमी में कई मौलिक अंतर हैं. जहां एक भक्त अपना सर्वस्व समर्पित करता है वहीं एक प्रेमी कर्म की प्रधानता के…

लोकतांत्रिक आत्मा की स्वतंत्रता का सवाल

FAISAL  ANURAGदेश के जानेमाने चिंतक प्रताप भानु मेहता ने एक चैनल के कार्यक्रम में लोकतंत्र के संकट और उम्मीदों पर चर्चा करते हुए एकबार उस राजनीतिक नैरेटिव को उन सवालों की ओर मोड़ा है, जो पुलवामा घटना के पहले  पक्ष विपक्ष की राजनीति पर…

कुछ बातें घुमा फिराकर नहीं की जा सकतीं ,काश आप लोग इस सुन्दर शहर को बख्श देते !

साईकिल चलना बहुत अच्छी बात है, लेकिन जब आप लोगों ने सड़क पर पैदल चलने की जगह नहीं छोड़ी है? अब सडकों पर चलना दूभर है तो साईकिल किधर चलेंगीं ?सेहत के लिए सबसे आवश्यक है शुद्ध और साफ़ हवा, आप लोगों ने तो खुली जगहों को बेंच कर कंक्रीट के जंगल…

राज्यपाल से सरयू राय की मुलाकात, रघुवर के लिये राजनीतिक पटखनी

Surjit Singhकहा जाता है राजनीति में जो दिखता है, वह होता नहीं और जो होता है, वह दिखता नहीं. झारखंड की राजनीति में भी यही हो रहा है. सरयू राय जो करते दिख रहे हैं, असल में वह हो नहीं रहा है. और जो होता जा रहा है, वह होता दिख नहीं रहा है.…