World

लंदन हाई कोर्ट ने तिहाड़ जेल को सुरक्षित बताया, विजय माल्या के प्रत्यर्पण की राह हुई आसान

London : विजय माल्या की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. बता दें कि ब्रिटेन की अदालत ने तिहाड़ जेल को सुरक्षित परिसर करार देते हुए कहा है कि यहां भारतीय भगोड़ों का प्रत्यर्पण किया जा सकता है. अदालत का यह फैसला विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण के लिहाज से महत्वपूर्ण बताया जा रहा है. जानकारों के अनुसार ब्रिटेन में क्रिकेट फिक्सिंग के आरोपी संजीव चावला के केस में आया अदालत का यह फैसला बैंक धोखाधड़ी कर भागे विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिहाज से है. जान लें कि लंदन हाई कोर्ट के जस्टिस लेगाट और जस्टिस डिंगेमैन्स ने शुक्रवार को अपने फैसले में कहा कि तिहाड़ में भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिक संजीव चावला के लिए कोई खतरा नहीं है. संजीव चावला पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों की फिक्सिंग का आरोप है. यह हैंसी क्रोन्ये मैच फिक्सिंग का मामला है, जिसमें भारतीय क्रिकेटरों अजय जडेजा और मोहम्मद अजहरुद्दीन पर भी आरोप लगा था.

इसे भी पढ़ेंःपीएम मोदी का कांग्रेस को चैलेंज, पार्टी में लोकतंत्र है तो परिवार से बाहर किसी व्यक्ति को बनाएं पार्टी अध्यक्ष

लंदन हाई कोर्ट के इस फैसले का असर विजय माल्या के केस पर  पड़ेगा

Catalyst IAS
ram janam hospital

बता दें कि भारत की ओर से चावला के इलाज का भरोसा दिलाये जाने के बाद लंदन हाई कोर्ट ने यह बात कही है.  जानकारों के अनुसार लंदन हाई कोर्ट के इस फैसले का असर विजय माल्या के केस पर भी पड़ेगा.  इसकी वजह यह है कि माल्या अकसर भारत की जेलों को असुरक्षित बताते रहे हैं, ऐसे में अब ब्रिटिश अदालत से उसके प्रत्यर्पण को मंजूरी मिल सकती है. अब इस मामले में नये फैसले के लिए केस वेस्टमिन्सटर मजिस्ट्रेट कोर्ट को ट्रांसफर होगा. ब्रिटेन के विदेश मंत्री चावला के प्रत्यर्पण के संबंध में आखिरी फैसला लेंगे, लेकिन इसे हाई कोर्ट में चुनौती दी जा सकती है. यही नहीं इसके बाद लंदन के सुप्रीम कोर्ट में भी फैसले को चैलेंज किये जाने की संभावना बन सकती है.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

Related Articles

Back to top button