JharkhandKoderma

कोडरमा जिला कांग्रेस कमिटी पुनर्गठित, नवमनोनीत पदाधिकारियों को किया गया सम्मानित

  • आरबीआई के माध्यम से डीवीसी की बकाया राशि वसूलने की निंदा

Koderma : झारखंड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव द्वारा कोडरमा जिला कांग्रेस की पुनर्गठित कमिटी की घोषणा की गयी. प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश की अनुशंसा और जिला अध्यक्ष मनोज सहाय पिंकू के अनुमोदन पर वरीय उपाध्यक्ष के पद पर मुंशी यादव, रामेश्वर यादव, परेश कुमार सिन्हा एवं प्रदीप कुमार सिंह (गुमो) का मनोनयन हुआ.

वहीं, महासचिव पद पर अशोक सिंह, अज्जू सिंह, नवनीत ओझा बंटी, धीरज कुमार (मुखिया), उपेंद्र सिंह, राजकुमार यादव, राजेंद्र प्रसाद सिंह एवं डॉ मुस्लिम अंसारी मनोनीत हुए. प्रभारी कोषाध्यक्ष पद पर राजेश मेहता का मनोनयन हुआ, जबकि जिला सचिव पद पर सत्येंद्र यादव, उमाशंकर रविदास, अनिल मुर्मू, मोहम्मद नसीम, दीपक मुंडा मनोनीत हुए. कार्यसमिति सदस्य के रूप में सरस कुमार बबलू, राजीव रंजन प्रसाद एवं दीपक बिरहोर का मनोनयन किया गया.

इसे भी पढ़ेः गिरिडीह: लुटेरों ने पेट्रोल पंप से 35 हजार कैश और दो मोबाइल फोन लूटे, मैनेजर बाउंड्री फांदकर भागे

पंचायत से लेकर प्रखंड तक कांग्रेस को मजबूत करने का संकल्प

जिला अध्यक्ष के आवासीय कार्यालय पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सादा समारोह आयोजित कर जिलाध्यक्ष एवं जिला पदाधिकारियों ने नवमनोनीत सभी पदाधिकारियों को माला पहनाकर व मनोनयन पत्र देकर सम्मानित किया. सम्मान कार्यक्रम में मुख्य रूप से पूर्व जिला अध्यक्ष निर्मल कुमार ओझा, महासचिव संजय सेठ, नगर अध्यक्ष प्रभात कुमार राम, गणेश स्वर्णकार, मनीरउद्दीन, आकाश कुमार सिंह, नगर पंचायत अध्यक्ष राजू सिंह, चंदवारा प्रखंड अध्यक्ष प्रमोद वर्णवाल, वरिष्ठ कांग्रेसी नागेश्वर प्रसाद, सुधांशु शेखर सुमन, रोहित गिरि, मो खुर्शीद ने उपस्थित होकर कोडरमा में कांग्रेस को पंचायत से लेकर प्रखंड तक जिला में मजबूत करने के प्रति वचनबद्धता जतायी.

इसे भी पढ़ेः पिस्तौल निकालकर बोले थे अशफाक- किसी ने मंदिर की एक ईंट को भी नुकसान पहुंचाया, तो गोली मार दूंगा

केंद्र सरकार को बताया आदिवासी विरोधी

उपस्थित कांग्रेसजनों ने विशेष रूप से केंद्र सरकार द्वारा कोविड-19 के संक्रमण काल में आदिवासी मूलवासी बहुल प्रदेश झारखंड से गलत और अलोकतांत्रिक तरीके से 1417 करोड़ रुपये आरबीआई के माध्यम से डीवीसी की बकाया राशि वसूले जाने की निंदा की. कहा कि इतनी बड़ी राशि से करोना काल में विकास परियोजनाओं को गति दी जा सकती थी, लेकिन आदिवासी विरोधी केंद्र सरकार के नकारात्मक एवं असहयोगात्मक रवैये के कारण झारखंड के समक्ष मुश्किल स्थिति उत्पन्न हो गयी है. झारखंड के कांग्रेसजन सहित जनता इसका कड़ा विरोध करती है. धन्यवाद ज्ञापन वरीय उपाध्यक्ष आशीष पांडे ने किया.

इसे भी पढ़ेः दो ट्रैक्टर हुए दुर्घटनाग्रस्त, दोनों के चालकों की मौत

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: