न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिम्स : जूनियर डॉक्टरों ने काला बिल्ला लगाकर किया मरीजों का इलाज

सातवां वेतनमान और अन्य सुविधा देने की कर रहे मांग

1,286

Ranchi: रिम्स के जूनियर डॉक्टरों ने सोमवार को काला बिल्ला लगाकर मरीजों का इलाज किया. जूनियर डॉक्टर सातवें वेतनमान को लागू करने, रिम्स की जर्जर सड़क को बनवाने, गर्ल्स हॉस्टल की सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने आदि की मांग कर रहे हैं. इन मांगों को को लेकर जूनियर डॉक्टरों ने शनिवार को भी रिम्स निदेशक का घेराव किया था. सोमवार को अपने इन्हीं मांगों के समर्थन में पूरे दिन जूनियर डॉक्टरों ने काला बिल्ला लगाकर काम किया. जूनियर डॉक्टरों ने सुबह 8:30 से 9 बजे तक इमरजेंसी के सामने और दोपहर एक से 1:30 बजे तक निदेशक कार्यालय के सामने काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान वे मरीजों को अपनी सेवा देते रहे ताकि मरीजों को किसी तरह से परेशानी न हो.

10 दिन के अंदर मांग पूरी नहीं हुई, तो आंदोलन होगा तेज

जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अजीत कुमार ने बताया कि यदि जूनियर डॉक्टरों की मांग 10 दिनों के अंदर पूरी नहीं होती है, तो यह आंदोलन उग्र रूप लेगा. इससे होनेवाले नुकसान की सारी जिम्मेवारी रिम्स प्रबंधन और सरकार की होगी. डॉक्टरों ने कहा कई बार मांगों को लेकर प्रबंधन को जानकारी दी गयी. लेकिन कभी कोई कार्रवाई नहीं हुई. डॉक्टरों ने बताया कि बीते वर्ष जून महीने में स्वास्थ्य मंत्री द्वारा आश्वासन दिया गया था कि 15 दिनों के अंदर ही सभी रेजिडेंट डॉक्टर और इंटर्न को सातवें वेतनमान का लाभ दिया जायेगा. लेकिन सात महीने बीत जाने के बाद भी अबतक इस दिशा में कोई सकारात्मक पहल नहीं हुई.

hosp3

क्या हैं जूनियर डॉक्टरों की मांगें

  • सातवां वेतनमान को जल्द से जल्द लागू करना.
  • गर्ल्स हॉस्टल की सुरक्षा व्यवस्था में सुधार.
  • रिम्स की जर्जर सड़क की मरमम्त.
  • न्यू गर्ल्स हॉस्टल को एक महीने में हैंडओवर लेना.
  • पीजी एवं हाउस सर्जन सीटों की संख्या बढ़ाना.
  • इंटर्न को एम्स के बराबर स्टाइपेंड देना.

इसे भी पढ़ेंः लापता पिता को ढूंढने निकले पुत्र का सात दिन बाद बालू में दफनाया गया शव बरामद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: