Main SliderRanchi

साल दर साल बढ़ती गयी JBVNL की बिजली टैरिफ, 2016 के बाद से उपभोक्ताओं पर बढ़ा बोझ

Ranchi :  झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड की नयी बिजली दरें जल्द तय हो जायेंगी. निगम के प्रस्तावित बिजली बिल में घरेलू और कमर्शियल बिजली बिल में बढ़ोतरी का जिक्र है. साल 2016 से देखें तो घरेलू और कमर्शियल बिजली टैरिफ में बेतहाशा वृद्धि देखी गयी है. इसके बावजूद भी जेबीवीएनएल का बिजली उत्पादक कंपनियों के पास बकाया है.

साल 2016 में घरेलू बिजली दर 1.60 रूपये प्रति यूनिट से 3.20 प्रति यूनिट थी. जो साल 2017 तक लागू रही. साल 2020-21 के लिए जो बिजली बिल तय होने हैं, उसमें अप्रत्याशित वृद्धि देखी जा रही है.

विद्युत नियामक आयोग को जेबीवीएनएल की ओर से जो पिटीशन बिजली बिल निर्धारण के लिए दी गयी है. उसके मुताबिक, घरेलू दरों में 7 प्रति यूनिट से 7.50 रूपये प्रति यूनिट दर की बढ़ोतरी होगी. हालांकि नियामक आयोग की ओर से होने वाली जन सुनवाई के बाद ही बिजली दरों में वृद्धि होगी या प्रस्तावित दरों में कमी की जायेगी, यह तय किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें –लद्दाख में भारत की सीमा 1 किमी से ज्यादा भीतर खिसक गयी है!

किस साल कितनी रही घरेलू बिजली दरें

साल 2017-18 में घरेलू बिजली दर 1.25 रूपये से 3.60 रूपये प्रति यूनिट बढ़ी. साल 2016-17 के बिजली टैरिफ से इस साल के बिजली दरों को देखें तो न्यूनतम अंतर है. साल 2018 से बिजली दरों में काफी वृद्धि देखी गयी. साल 2018-19 के लिए बिजली दर तय की गयी. जिसमें साल 2018-19 के लिए घरेलू बिजली दरों में 5.75 रूपये से 6.25 रूपये प्रति यूनिट की गयी.

साल 2018-19 में बिजली ग्रामीण घरेलू बिजली दरें 4.75 रूपये रही. जो साल 2019-20 में भी लागू रही. अब उम्मीद है कि इन बिजली दरों में भी वृद्धि हो जायेगी.

प्रस्तावित बिजली दरों से बीस गुणा पड़ेगा बोझ

जेबीवीएनएल ने साल 2020-21 में कमर्शियल बिजली दरों के फिकस्ड चार्जेस में 300 रूपये प्रति केवी करने का प्रस्ताव दिया है. जो हर महीने दी जायेगी. एनर्जी चार्जेस 6 रूपये प्रति केबी हो जायेगी. ऐसे में प्रस्तावित बिजली दरों से कमर्शियल कनेक्शन में अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा.

साल 2019-20 में यह दर 150 रूपये प्रति केवी फिकस्ड चार्जेस दी गयी. साल 2018-19 में फिकस्ड चार्जेस 225 रूपये प्रति केबी थी. एनर्जी चार्जेस 225 रूपये प्रति केबी रही. अनुमान है कि पहले जेबीवीएनएल के नये प्रस्ताव से फिकस्ड चार्जेस में 20 गुणा का बोझ पड़ेगा.

जल्द तय होंगी नयी दरें

कोविड-19 के कारण विद्युत नियामक आयोग ने बिजली दर तय करने की प्रक्रिया रोक दी थी. अब आयोग में काम शुरू हुआ है. जिससे आने वाले दिनों में जल्द ही नयी दरें तय की जायेंगी.  नियामक आयोग पहले उन कंपनियों के लिए जन सुनवाई करेगी, जो एक जिला में आपूर्ति करते हैं. इसके बाद बड़े वितरकों और उत्पादों का बिजली दर तय की जायेगी. जल्द ही इस संबध में विज्ञापन निकाला जायेगा.

इसे भी पढ़ें –कौन हैं अश्वनि कुमार मिश्रा और चाईबासा डीडीसी से क्या है रिश्ता

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close