Lead NewsNationalTOP SLIDER

पढ़े-लिखे मुस्लिम लड़कों को उड़ा ले जाती हैं हिन्दू लड़कियां…’, लव जिहाद पर पूर्व CEC वाईएस कुरैशी का विवादित बयान

योगी आदित्यनाथ की जीत सांप्रदायिकता की जीत है, क्योंकि ध्रुवीकरण का दौर चल रहा

New Delhi : भारत के पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त वाईएस कुरैशी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ की जीत को सांप्रदायिकता की जीत करार दिया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि लव जिहाद एक प्रोपेगेंडा है. इससे मुस्लिम लड़कियाँ ज्यादा नुकसान में हैं, क्योंकि मुस्लिम लड़कियों की नज़र से देखें, तो कहा जा सकता है कि पढ़ी-लिखी हिंदू लड़कियाँ, पढ़े-लिखे मुस्लिम लड़कों को उड़ा ले जाती हैं.

कुरैशी ने भारत में मुस्लिमों की आबादी तेजी से बढ़ने को लेकर कहा कि आने वाले 1000 वर्षों तक ऐसा नहीं हो सकता है. यह दिल्ली के गणित के प्रोफेसर दिनेश सिंह के एक मॉडल में सिद्ध हो चुका है.

इसे भी पढ़ें:यमन में भी युद्ध शुरू, हूती विद्रोहियों के ठिकानों पर सऊदी अरब ने की भीषण बमबारी

सोचा था कि देश में मुस्लिम जनसंख्या बढ़ जाएगी, तो वे प्रधानमंत्री बन जाएंगे

कुरैशी ने कहा कि मुस्लिमों में परिवार नियोजन कम है, मगर इसका ताल्लुक मजहब से नहीं है. मजाकिया अंदाज में उन्होंने कहा कि सोचा था कि देश में मुस्लिम जनसंख्या बढ़ जाएगी, तो वे प्रधानमंत्री बन जाएंगे, मगर हजार वर्षों तक ऐसा नहीं होगा.

इसे भी पढ़ें:56th National Cross Country Girls U-20 एवं SAFF Cross Country Girls Team चैंपियनशिप में आशा किरण बारला को स्वर्ण

चार निकाह करने के सवाल पर ये कहा

मुस्लिमों द्वारा चार निकाह करने के सवाल पर कुरैशी ने कहा कि भारत में 1000 पुरुषों पर 920-22 महिलाओं का रेश्यो है. ऐसे में प्रत्येक मर्द को एक पत्नी मिलना ही मुश्किल है, तो कोई चार शादी कैसे कर सकता है. कुरान का हवाला देते हुए पूर्व चुनाव आयुक्त ने कहा कि कुरान में भी केवल एक आयत में बेवा और यतीम औरतों के साथ निकाह करने की बात कही गई है.

इसे भी पढ़ें:RTI का हाल बेहालः कार्मिक की चिट्ठी के बावजूद फर्स्ट अपील पर सुनवाई लेने में स्थानीय प्रशासन की आनाकानी

अभी ध्रुवीकरण का तीसरा चरण

कुरैशी ने कहा कि यूपी में योगी आदित्यनाथ की जीत सांप्रदायिकता की जीत है, क्योंकि देश में ध्रुवीकरण का दौर चल रहा है. उन्होंने कहा कि पहला ध्रुवीकरण देश के विभाजन के दौरान हुआ था, दूसरा बाबरी मस्जिद के दौरान और तीसरा चरण अब चल रहा है.

इसे भी पढ़ें :Jio ने कर दिया फ्री में मोबाइल पर IPL देखने का इंतजाम! जानें कैसे पाएं Disney+Hotstar का सब्सक्रिप्शन

हिंदू स्वभाव से सेक्युलर, हिजाब कुरान का हिस्सा नहीं

हिंदू को स्वभाव से सेक्युलर करार देते हुए कुरैशी ने कहा कि देश की आवाम को तेजी से सांप्रदायिक बनाया जा रहा है. कर्नाटक से शुरू हुए हिजाब विवाद पर भी कुरैशी ने प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि हिजाब कुरान का हिस्सा नहीं है, मगर लड़कियों को शालीन कपड़े पहनने की बात कही गई है. उन्होंने कहा कि स्कूल यूनिफॉर्म में सिखों की पगड़ी और सिंदूर की अनुमति है, तो फिर हिजाब से क्या समस्या है.

इसे भी पढ़ें :पलामू: शार्ट सर्किट से SBI एजेंट के घर लगी आग, लाखों का नुकसान

EVM में गड़बड़ी होती तो भाजपा बंगाल चुनाव नहीं हारती

हिजाब आवश्यक है या नहीं, ये जज साहब नहीं, मौलाना बताएँगे. मौलाना IPC के फैसले देने लगें तो क्या ये उचित होगा? मीडिया से बात करते हुए कुरैशी ने EVM पर सवाल खड़े करने वालों को भी तगड़ा जवाब दिया. उन्होंने कहा कि EVM हमेशा विश्वसनीय रहा है, जबकि बैलेट भाजपा के पक्ष में जाता है. उन्होंने कहा कि यदि EVM में गड़बड़ी होती तो भाजपा बंगाल का चुनाव नहीं हारती.

इसे भी पढ़ें:Bangla Protest: बंगभाष‍ियों को नाराज कर गया रेलवे का यह कदम, कहा- जल्‍द फैसला बदले

Related Articles

Back to top button