JharkhandMain Slider

#HemantSoren ने झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में ली शपथ; रामेश्वर उरांव, आलमगीर व भोक्ता ने ली मंत्री पद की शपथ

Ranchi: हेमंत सोरेन ने रविवार को झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी.

हेमंत के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और लोहरदगा विधायक रामेश्वर उरांव, पाकुड़ से कांग्रेस विधायक आलमगीर आलम और राजद विधायक सत्यानंद भोक्ता ने मंत्री पद की शपथ ली.

इस ऐतिहासिक पल के गवाह कई नेता बने. समारोह में हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन के साथ पिता शिबू सोरेन व मां रूपी सोरेन भी मौजूद रहे. पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास व बाबूलाल मरांडी, मधु कोड़ा भी उपस्थित थे.

शपथ ग्रहण समारोह के लिए रांची के मोरहाबादी मैदान को झारखंडी शैली में सजाया गया था. झारखंड की कोहबर कला के अलावा कला संस्कृति को प्रमुखता से दर्शाया गया.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सोरेन ने ली झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री पद की शपथ, ऐतिहासिक पल के गवाह बने कई दिग्गज नेता

कई बड़े नेता हुए समारोह में शामिल

हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के साथ-साथ शरद यादव, तेजस्वी यादव, संजय सिंह (आप), डी राजा (सीपीआइ), सीताराम येचुरी (सीपीएम) शामिल रहे. कई उद्योपति भी मौजूद थे.

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में जेएमएम, कांग्रेस और आरजेडी के गठबंधन ने 81 सीटों वाली विधानसभा में 47 सीटों पर जीत दर्ज की है जिसमें जेएमएम को 30, कांग्रेस को 16 और आरजेडी को 1 सीट पर जीत हासिल हुई.

वहीं जेवीएम के 3, एनसीपी और सीपीआइ (एमएल) के 1-1 विधायकों ने जीत हासिल की और गठबंधन को ही अपना समर्थन दिया है.

इसे भी पढ़ें – #PM_Modi ने मन की बात में कहा, आज के युवा व्यवस्था को पसंद करते हैं, अराजकता, अस्थिरता को नहीं  

15 जनवरी के बाद अन्य विधायक लेंगे शपथ

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, हेमंत मंत्रिमंडल के अन्य मंत्रियों के नाम पर कोई सहमति फिलहाल नहीं पायी है. 15 जनवरी के बाद अन्य विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे.

हालांकि खबर ये भी है कि 30 दिसंबर को दिल्ली में गठबंधन के नेताओं की बैठक बुलायी गयी है, जिसमें अन्य मंत्रियों के नाम पर सहमति बन सकती है.

हेमंत सोरेन दूसरी बार बने हैं सीएम

झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री होने साथ ही हेमंत सोरेन के लिए ये दूसरा मौका है, जब वे सीएम बने हैं.  इससे पहले हेमंत सोरेन ने साल 2013 के जुलाई महीने में सीएम पद की शपथ ली थी.

2013 में जेएमएम, कांग्रेस और राजद ने साथ मिलकर सरकार बनायी थी. लेकिन ये सरकार मात्र 1 साल 15 दिनों तक ही चल पायी.

हेमंत सोरेन के पिता शिबू सोरेन 3 बार झारखंड के सीएम रह चुके हैं. लेकिन कार्यकाल महज 10 महीने 5 दिन तक ही यानी  एक साल से भी कम रहा.

दोनों दलों के नेता मंच पर थे मौजूद

शपथ ग्रहण के लिए बनाये गये मंच को चार भागों में बांटा गया था. दो भागों में सरकार के सहयोगी दलों के विधायक बैठे थे. एक अन्य में राज्यपाल बैठीं थीं जिसमें मुख्यमंत्री और मंत्री पद की शपथ ली गयी.

वहीं एक अन्य भाग में अतिथियों के बैठने की व्यवस्था थी. कार्यक्रम के दौरान अर्जुन मुंडा को छोड़कर सभी पूर्व मुख्यमंत्री मौजूद थे. रघुवर दास भी पहली पंक्ति में बैठे थे.

इसे भी पढ़ें – रामगढ़ झामुमो अध्यक्ष विनोद किस्कू ने रोका MPL का कोयला लदा ट्रक, मांगी 20 रूपये प्रति टन रंगदारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button