JharkhandRanchiTODAY'S NW TOP NEWS

छात्रावास में रह रहे छात्रों को मिला नोटिस, बंधु तिर्की ने कहा- आदिवासी विरोधी है सरकार

विज्ञापन

Ranchi: रांची के छात्रावास में रह रहे प्रतियोगिता परिक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों को छात्रावास खाली करने का नोटिस मिला है. छात्रों को मिले इस नोटिस को लेकर झारखंड विकास मोर्चा कार्यालय में पूर्व शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की ने संवादाता सम्मलेन किया. प्रेस कॉन्फ्रेंस में बंधु तिर्की ने कहा कि राज्य सरकार आदिवासी और दलित विरोधी है.

इसे भी पढ़ें-मानव तस्करी के शिकार 1000 पीड़ितों ने लिखा पीएम को पत्र, मानव तस्करी निरोधक विधेयक पारित कराने की मांग

advt

सरकार आदिवासी और दलित विरोधी है- बंधु

बंधु तिर्की ने कहा कि राज्य सरकार के द्वारा चिन्हित करके आदिवासी व दलित छात्रों को छात्रावास खाली करने को कहना गलत है. छात्र बदहाली की अवस्था में विभिन्न छात्रावासों में रह कर प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. ऐसे में बरसात के समय छात्रावास खाली करने का नोटिस दिया गया है. नोटिस में छात्रा- छात्राओं को 15 अगस्त 2018 तक हॉस्टल खाली करने को कहा गया है. यह पूरी तरह से आदिवासी विरोधी और दलित विरोधी कार्य है. बंधु तिर्की ने आरोप लगाया कि सरकार के द्वारा टीएसी का पैसा विभिन्न मद में खर्च किए जा रहे हैं. सरकार आदिवासी छात्रों के भविष्य सवांरने के लिए कार्य नहीं कर रही है.

इसे भी पढ़ें-यशवंत,शौरी व प्रशांत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, राफेल डील आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला

adv

‘सरकार नोटिस वापस नहीं लेती तो छात्र सड़क पर उतरने को मजबूर होंगे’

बंधु तिर्की ने कहा कि एक और जहां राज्य में जेपीएससी की परीक्षा समय पर नहीं होती है, वहीं दूसरी ओर विभिन्न जिलों से आकर गरीब छात्र- छात्राएं हॉस्टल में रहकर किसी तरह पढ़ाई कर रहे हैं. ऐसे में छात्रावास में छात्रों को दिया गया नोटिस पूरी तरह आदिवासी विरोधी है.

इसे भी पढ़ें-रंजय सिंह हत्याकांड का मुख्य आरोपी “मामा” पहुंचा सलाखों के पीछे

किन-किन छात्रावासों को मिला नोटिस

बंधु तिर्की ने अपने संबोधन में कहा जिला प्रशासन की ओर से सरस्वती बालिका छात्रावास, आकांक्षा बालिका छात्रावास, दीपशिखा बालिका छात्रावास, यदुवंश बालिका छात्रावास, कार्तिक बालिका छात्रावास, स्वर्णरेखा स्नातकोत्तर छात्रावास, वीर बुधु भगत बालक छात्रवास, हातमा बालक छात्रावास एक और हातमा बालक छात्रावास दो में रह रहे छात्रों को नोटिस दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड के आधे राज्यसभा सांसद सदन में रहते हैं खामोश

सरकार टीएसी के पैसे से छात्रवासों में सुविधाएं बहल करे

बंधु तिर्की ने कहा कि केन्द्र से राज्य को आदिवासी विकास के नाम पर कारोड़ों राशि मिल रही है, जिसे सरकार दूसरे मद में खर्च करने का काम कर रही है. सरकार को चहिए कि टीएसी का पैसा आदिवासी छात्रों के काल्यण में खर्च करे और रांची के छात्रावास में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close