Education & Career

Good News: #JSSC जल्द निकालेगा जूनियर इंजीनियर के 614 पदों के लिए विज्ञापन

Kumar Gaurav

Ranchi: इंजीनियरिंग और डिप्लोमा के छात्रों के लिए अच्छी खबर है. लंबे समय से इंजीनियरिंग सेक्टर में सरकारी नौकरी का इंतजार कर रहे छात्रों का इंतजार जल्द ही खत्म हो सकता है.

जल संसाधन विभाग और सड़क निर्माण विभाग ने जूनियर इंजीनियर के कुल मिलाकर 614 पदों के लिए झारखंड कर्मचारी चयन आयोग को अधियाचना भेज दी है.

advt

इसे भी पढ़ेंःमारपीट की खबर सामने आने के बाद पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष ने जारी किया खुला पत्र, पढ़ें क्या लिखा है…

जल संसाधन विभाग ने 400 पदों के लिए अधियाचना भेजी है. वहीं पथ निर्माण विभाग ने 214 पदों के लिए अधियाचना भेज दी है. एक बार जेएसएससी ने पथ निर्माण विभाग की अधियाचना को त्रुटियों को देखते हुए वापस किया था, जिसे बाद में सुधार कर भेजा गया है.

झारखंड में जल संसाधन विभाग और पथ निर्माण में ही होती है JE की नियुक्ति

झारखंड में विभिन्न विभागों में जूनियर इंजीनियर के काम लिये जाते हैं. लेकिन जूनियर इंजीनियर का पद सिर्फ इन्हीं दो विभागों में होता है.

इन्हीं विभागों में नियुक्ति के बाद जूनियर इंजीनियरों को दूसरे विभागों में डिप्यूट किया जाता है. इसके अलावा झारखंड राज्य में बोर्ड और निगम अपने स्तर से इंजीनियरों की बहाली करता है. बोर्ड और निगम में होने वाली नियुक्तियों का विज्ञापन भी लंबे समय से नहीं निकाला गया है.

adv

इन विभागों में इतने पद हैं खाली

जल संसाधन विभाग में जूनियर इंजीनियरों के कुल 2138 पद सृजित हैं, जिसमें से 1600 पदों पर लोग कार्यरत हैं और 538 पद खाली हैं. वहीं पथ निर्माण विभाग में कुल 1150 पद सृजित हैं, जिसमें 900 पदों पर जेई हैं और 250 पद खाली हैं.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में बेरोकटोक चल रहा हवाला कारोबारः नेता,अपराधी,बड़े व्यापारी, ठेकेदार ठिकाने लगा रहे ब्लैक मनी

इन 250 पदों के तुलना में 214 पदों के लिए झारखंड कर्मचारी चयन आयोग को अधियाचना भेजी गयी है.

चार सालों से नहीं निकला है जेई के लिए विज्ञापन

झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने अंतिम बार 2014-2015 में जूनियर इंजीनियर के पदों के लिए विज्ञापन निकाला था. जिसके बाद से परीक्षार्थी लगातार इस परीक्षा के आयोजन को लेकर इंतजार कर रहे हैं.

छात्रों का कहना है कि एसएससी और अन्य राज्यों में जेई का विज्ञापन प्रत्येक वर्ष निकलता है, लेकिन चार सालों से हमारे यहां विज्ञापन नहीं निकाला गया है.

इसे भी पढ़ेंःबेचारा गरीब नगर निगम हजारीबाग, बिजली कट गयी शवदाह गृह की

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button