GiridihJharkhandMain Slider

गिरिडीह: लॉकडाउन में सूरत से लौटे प्रवासी मजदूर ने काम नहीं मिलने पर की खुदकुशी

Giridih: लॉकडाउन के कारण सूरत से घर लौटे गिरिडीह के बेंगाबाद थाना क्षेत्र के केन्दुंआगढ़ा के मोतीलेदा गांव निवासी मजदूर मनोज कुमार (30) ने काम नहीं मिलने के कारण फांसी लगाकर जान दे दी.

घटना की जानकारी मिलने के बाद बेंगाबाद थाना पुलिस घटनास्थल पहुंची और पूरे मामले से अवगत होने के बाद मृतक के शव को कब्जे में कर दूसरे दिन शनिवार को पोस्टमॉर्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. मनोज अपने पीछे पत्नी और तीन बच्चों को छोड़ गया है.

जिस वक्त मृतक ने घर के एक कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या की उस वक्त घर में उसकी पत्नी और भाभी मौजूद थी लेकिन उन्हें इस बात का पता नहीं चला. कुछ देर बाद जब पत्नी मनोज कुमार को बुलाने गयी तो कमरा बंद पाया गया. इसके बाद उसने मदद के लिए सबों को बुलाया. कमरे का दरवाजा खोला गया तो मनोज का शव रस्सी के सहारे झूल रहा था.

Catalyst IAS
SIP abacus

इसे भी पढ़ें – केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को पटना में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गयी  

Sanjeevani
MDLM

10 सालों तक कपड़ा मिल में करता था काम

परिजनों की मानें तो मृतक करीब 10 सालों से गुजरात के सूरत में कपड़ा मिल में काम करता था. लॉकडाउन के कारण चार महीना पहले घर लौटा और घर पर रहा था. इसी बीच अनलॉक की प्रकिया के दौरान 20 दिनों पहले वह सूरत गया. लेकिन मिल मालिक ने दुबारा रखने से इंकार कर दिया.

इसके बाद भी सूरत के कई कारखानों में काम मांगने गया. लेकिन कहीं नहीं मिलने के बाद वह बेंगाबाद के मोतीलेदा लौट आया. लौटने के कुछ दिन तक उसे जब काम नहीं मिला, तो रोजगार के अभाव और आर्थिक तंगी से परेशान हो कर सुसाइड कर लिया.

इसे भी पढ़ें – आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने कहा, भारतीय मुसलमान दुनिया में सर्वाधिक संतुष्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button