DeogharEducation & Career

लॉकडाउन अवधि की स्कूल फीस पूर्णत: माफ करें निजी स्कूल: देवघर डीसी

Deoghar : देवघर उपायुक्त नैंसी सहाय के द्वारा देवघर जिला के सभी निजी विद्यालयों के प्राचार्य एवं संचालकों को निर्देशित किया गया है कि वे इस कठिन परिस्थिति में अपने विद्यालय में अध्ययनरत छात्र/छात्राओं से संपूर्ण तालाबंदी या विद्यालय बंद की अवधि का मासिक फीस न लें. साथ ही इसे पूर्णतः माफ किया करें, क्योंकि देवघर जिला के अधिकतर छात्र-छात्राएं गरीब परिवार से आते हैं और उनके अभिभावक छोटी-मोटी नौकरी कर अपने बच्चों को पढ़ाते हैं.

लेकिन वर्तमान में लॉकडाउन की वजह से सभी लोगों का रोजी-रोजगार प्रभावित हुआ है. बहुत से लोगों के पास अभी स्कूल फीस देने अथवा अन्य कार्यों के लिए भी पर्याप्त पैसे नहीं हैं. ऐसे में इस प्रकार के लोगों को देखते हुए मानवीयता के आधार पर हमारा फर्ज है कि इस विकट परिस्थिति में हम उनकी हर संभव मदद करें.

इसे भी पढ़ें –एक नजर में जानें कि किन-किन सेवाओं को लॉकडाउन में 20 अप्रैल से सरकार ने दी है छूट

Catalyst IAS
ram janam hospital

ऑनलाइन पढ़ाने की व्यवस्था करें स्कूल

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

डीसी ने आगे निर्देशित किया है कि सभी निजी विद्यालयों द्वारा विद्यालय बंद रहने की पूरी अवधि का बस फीस भी छात्र/छात्राओं से नहीं लिया जाये और छात्रों के हित में स्टडी मटेरियल वीडियो पीपीटी के रूप में अभिभावकों छात्रों का व्हाट्सएप ईमेल स्कूल वेबसाइट के माध्यम से उपलब्ध कराया जाये, ताकि लॉकडाउन की वजह से बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो.

बता दें कि कोरोना वायरस के प्रसार होने के कारण केंद्र सरकार के द्वारा 14 अप्रैल 2020 तक संपूर्ण लॉकडाउन किया गया था. लेकिन अब सरकार ने लॉकडाउन को बढ़ाकर देशभर में 3 मई तक कर दिया है.

जिसके आलोक में सचिव झारखंड अधिविध परिषद, रांची एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की सुसंगत धाराओं के निर्देशानुसार कोरोना वायरस के प्रसार के कारण सभी को किसी न किसी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

परंतु इससे गरीब एवं मजदूर वर्ग के लोग अत्याधिक प्रभावित हो रहे हैं एवं जीविकोपार्जन के साधन नहीं होने के कारण उन्हें कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में इन लोगों की मदद के लिए समाज के सभी वर्ग के लोगों का सहयोग आपेक्षित है.

इसे भी पढ़ें – मुंबई में मजदूरों का प्रदर्शन : अफवाह फैलाने वाले की गिरफ्तारी के बाद टीवी पत्रकार पुलिस की हिरासत में

सभी स्कूलों को लिखा गया था लेटर – डीसी

इस बारे में देवघर डीसी नैंसी सहाय ने कहा कि झारखंड एकेडमिक काउंसिल की ओर से सभी निजी स्कूलों को पत्र लिखा गया था. उसी के मद्देनजर हमारी ओर से भी जिला के सभी निजी स्कूल प्राचार्यों और प्रबंधकों को लॉक डाउन की अवधि के दौरान की फीस नहीं लेने का आग्रह किया है.

इसे भी पढ़ें –  मीटर रीडिंग में न हो कोई परेशानी, जीरो कॉस्ट में JBVNL बना रहा सेल्फ बिलिंग एप

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button