Crime NewsLead NewsNational

FB पर की दोस्ती, झांसा देकर किया सेक्स, शादी के लिए कहा तो पुलिस अफसर ने धमकाया, अब सीएम योगी ने किया बर्खास्त

नवनीत पर प्रतापगढ़ के पट्टी थाने में दर्ज रेप केस में जल्द कसेगा कानूनी शिकंजा

Lucknow : उत्तर प्रदेश के एक पुलिस अधिकारी ने एक महिला से फेसबुक के मार्फत दोस्ती की थी. इसके बाद शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया. जब महिला शादी के लिए दवाब बनाने लगी तो फर्जी केस में फंसा देने की धमकी दी. ये मामला सामने आने के करीब 3 साल बाद प्रतापगढ़ में डिप्टी एसपी रहे नवनीत नायक को उत्तर प्रदेश शासन ने पुलिस की नौकरी से बर्खास्त करने का निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डिप्टी एसपी नवनीत नायक के ऊपर लगे महिला से शारीरिक शोषण के आरोप में जांच के बाद पुलिस सेवा से बर्खास्त करने का आदेश दिया है.

महिला की तहरीर पर नवनीत नायक पर पहले ही रेप का मुकदमा दर्ज है. अब पुलिस की नौकरी से बाहर होने के बाद कानूनी शिकंजा भी कसने जा रहा है. दरअसल, फेसबुक से हुई दोस्ती और फिर उस दोस्ती में लव, सेक्स और धोखे के कॉकटेल में एक और पुलिस अधिकारी को सेवा से बर्खास्त किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें:BIG NEWS : आसनसोल में भाजपा उम्मीदवार अग्निमित्रा पाल पर हमला, BJP और TMC कार्यकर्ताओं में हुई मारपीट, देखें VIDEO

Sanjeevani

क्या है पूरा मामला

जुलाई 2019 में प्रतापगढ़ में शिव पट्टी के पद पर तैनात किए गए डिप्टी एसपी नवनीत नायक को यूपी पुलिस की सेवा से बर्खास्त किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि प्रतापगढ़ में तैनाती के दौरान सीओ रहे नवनीत राय की सोशल मीडिया के जरिए एक महिला से दोस्ती हुई. दोस्ती में प्यार की बातचीत शुरू हुई तो शादी का वादा भी हो गया.

मध्य प्रदेश के छतरपुर की रहने वाली महिला नवनीत नायक से मिलने के लिए प्रतापगढ़ पुलिस लाइन के ट्रांसिट हॉस्टल गई तो कई बार दोनों लोग होटल में भी मिले. महिला ने जब शादी करने का दबाव बनाया तो सीओ ने ब्लैकमेल करने के फर्जी केस में फंसा कर जेल भेजने की धमकी दे दी.

इसे भी पढ़ें:Lata Mangeshkar Award: PM नरेंद्र मोदी को दिया जायेगा पहला लता दीनानाथ मंगेशकर सम्मान, परिवार ने की घोषणा

अंतरराष्ट्रीय संस्था में काम करती है महिला

एक अंतरराष्ट्रीय संस्था में काम करने वाली महिला ने इसके खिलाफ जिले के पुलिस अफसरों से लेकर शासन में तक शिकायत की. शासन के दखल के बाद जुलाई 2021 में नवनीत पर प्रतापगढ़ के पट्टी थाने में एफआईआर दर्ज हुई और तब शाहजहांपुर में सीओ रहे नवनीत को निलंबित कर दिया गया. वर्तमान में नवनीत राय डीजीपी मुख्यालय से संबद्ध है.

महिला की तहरीर पर दर्ज हुई रेप की एफआईआर के बाद मेडिकल हुआ महिला का मजिस्ट्रेट के सामने कलम बंद बयान तक दर्ज हो चुका है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में गोपनीय जांच कराने के बाद अब नवनीत को उत्तर प्रदेश पुलिस की सेवा से बर्खास्त करने का निर्णय लिया है.

माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश पुलिस की सेवा से बर्खास्त होने के बाद अब नवनीत पर प्रतापगढ़ के पट्टी थाने में दर्ज रेप केस में जल्द कानूनी शिकंजा भी कसेगा.

इसे भी पढ़ें:ग्रामीण विकास योजनाओं को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति का करें अनुसरण : डॉ मनीष रंजन

Related Articles

Back to top button