न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अब आतंकियों के निशाने पर पुलिसकर्मियों के परिजन ! पांच लोगों को किया अगवा

पुलिस की ओर से आधिकारिक बयान नहीं

248

Shrinagar: जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने अशांति फैलाने की नीयत से सारी हदें पार कर दी है. पहले सेना और आम आदमी को निशाना बनाने वाले आतंकियों के निशाने पर अब पुलिसकर्मियों के परिवार वाले आ गये हैं.

इसे भी पढ़ें- बोकारो डीसी ने नियम विरुद्ध जाकर दी बियाडा की जमीन, उद्योग निदेशक ने खारिज किया आदेश, कहा –…

आतंकवादियों ने दुस्साहस दिखाते हुए दक्षिण कश्मीर के विभिन्न इलाकों से पुलिसकर्मियों के परिजन को अगवा कर लिया है. मिली जानकारी के अनुसार पांच पुलिसकर्मियों के परिजनों का अपहरण किया गया है. हालांकि मामले को लेकर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है.

hosp3

पुलिसकर्मियों के परिजन अगवा

वहीं घटना की जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने बताया कि आंतकवादियों ने कम से कम पांच लोगों को शोपियां, कुलगाम, अनंतनाग और अवंतिपोरा से अगवा किया है. अगवा किए गए लोगों के परिजन जम्मू-कश्मीर पुलिस में काम करते हैं. जिन लोगों को अगवा किया गया है, पुलिसवालों के बेटे-भाई शामिल हैं. पुलिस सभी लोगों को ढूंढने के लिए बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन चलाया है.

इसे भी पढ़ेंःगोमिया बना नगर परिषद, अष्टलोहि कर्मकार पिछड़ा और कुम्हार-कुंभकार अति पिछड़ा वर्ग में शामिल

इन लोगों को किया गया अगवा

1. जुबैर अहमद भट्ट, पुलिसकर्मी मोहम्मद मकबूल भट्ट के बेटे
2. आरिफ अहमद, एसएचओ नाजिर अहमद के भाई
3. फैज़ान अहमद, पुलिसकर्मी बशीर अहमद के बेटे
4. सुमैर अहमद, पुलिसकर्मी अब्दुल सलाम के बेटे
5. गौहर अहमद, डीएसपी एज़ाज के भाई

आतंकवादियों ने इस घटना को तब अंजाम दिया जब एनआईए ने वांछित आंतकवादी सैयद सलाहुद्दीन के दूसरे बेटे को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने फिलहाल कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है और कहा है कि वह अगवा करने संबंधी रिपोर्टों का पता लगा रही है.

इसे भी पढ़ें- धनबाद में शुरू होगी IPPB सुविधा, PM मोदी करेंगे ऑनलाइन उद्घाटन

वहीं घटना की जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने बताया कि आंतकवादियों ने कम से कम पांच लोगों को शोपियां, कुलगाम, अनंतनाग और अवंतिपोरा से अगवा किया है. वही इस घटना में गांदरबल जिले से अगवा किए गए पुलिसकर्मी के परिजन को आंतकवादियों ने बुरी तरह पिटाई करने के बाद छोड़ दिया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: