JharkhandRanchi

किसानों के डेथ वारंट पर किया गया हस्ताक्षर है मोदी सरकार का कृषि कानून : कांग्रेस

विज्ञापन
  • केंद्र द्वारा पारित कृषि कानून के विरोध में प्रदेश कांग्रेस ने निकाला विरोध प्रदर्शन मार्च, सभी कांग्रेसी नेता रहे उपस्थित

Ranchi  : संसद में पिछले सप्ताह पारित हुए कृषि विधेयक कानून को किसान विरोधी बताते हुए प्रदेश कांग्रेस के नेतृत्व में सोमवार को एक विरोध प्रदर्शन मार्च निकाला गया. यह प्रदर्शन मोरहाबादी स्थित बापू वाटिका से लेकर राजभवन तक निकाला गया.

राजभवन पहुंच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिनमंडल ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की और उन्हें राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सौंपा. प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह, संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम, सांसद धीरज साहू, विधायक प्रदीप यादव, विधायक बंधु तिर्की और विधायक इरफान अंसारी शामिल थे.

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि भाजपा देश के किसानों को मारने का काम कर रही है. केंद्र सरकार द्वारा बनाया यह काला कानून किसानों के हित में नहीं बल्कि उनके डेथ वारंट पर किया गया भाजपा का हस्ताक्षर है.

advt

इसे भी पढ़ें- बिहार : बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद राजद में शामिल हुई

भूमि अधिग्रहण कानून लाकर यूपीए ने किसानों के हित में किया काम, भाजपा ने किया प्रहार

किसानों के डेथ वारंट पर किया गया हस्ताक्षर है मोदी सरकार का कृषि कानून : कांग्रेस
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से झरखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष व मंत्री रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने राज भवन आकर मुलाक़ात की तथा एक ज्ञापन समर्पित किया

विरोध प्रदर्शन मार्च में झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह, महागामा विधायक दीपिका पांडेय सिंह, बरही विधायक उमाशंकर अकेला सहित कई कांग्रेसी उपस्थित थे. इससे पहले बापू वाटिका में उपस्थित तमाम कांग्रेसी नेताओं ने मोदी सरकार के किसान विरोधी बिल को संघीय ढ़ांचे पर बड़ा हमला बताया.

कांग्रेसियों का कहना है कि कांग्रेस हमेशा किसानों के हित में लड़ती रही है. 2013 में भूमि अधिग्रहण कानून को लाकर यूपीए सरकार ने किसानों के हित में बड़ा काम किया था. लेकिन मोदी सरकार ने 2014 में सत्ता में आते ही अध्यादेश लाकर किसानों पर पहला प्रहार किया.

कृषि काम से जुड़े सभी वर्गों के लोग हो जाएंगे बेरोजगार : डॉ रामेश्वर उरांव

रामेश्वर उरांव ने कहा कि किसान के संबंध में केंद्र ने जो तीन बिल बनाया है, उसे कांग्रेस देश के किसानों के विरोध में मानती है. इस बिल से देश के सभी मंडी पूंजीपतियों के सामने टिक नहीं पाएगी. इससे रोजगार कर रहे सभी समुदाय के लोग बेरोजगार हो जाएंगे.

adv

देश की जनता से मोदी सरकार ने केवल झूठ बोला है : आलमगीर

आलमगीर आलम ने कहा कि देश के किसानों को मारने का काम कर रही है. मोदी सरकार सत्ता में जब से आयी है, तब से हर चीज में परिवर्तन भाजपा का निजी हित है. हर बार मोदी सरकार ने देश की जनता को झूठ ही बोला है.

जीएसटी लाने के बाद केंद्र ने कहा था कि इससे राज्यों को नुकसान पहुंचा है, उसे 50 दिन में खत्म करेंगे. इसी तरह कोविड-19 की समस्या को 21 दिन में खत्म कर देंगे. लेकिन सभी में भाजपा फेल हो चुकी है. केंद्र की यह पहल से किसानों को आत्महत्या और बेरोजगार कर देगी.

इसे भी पढ़ें- मोदी सरकार पर राहुल गांधी का हमलाः किसानों की आवाज संसद और बाहर दोनों जगह दबाई गई

कांग्रेस के बेहतर कामों को खत्म कर रही है भाजपा : प्रदीप यादव

विधायक प्रदीप यादव ने कहा कि यह विरोध कांग्रेस का नहीं बल्कि देश के गरीबों का है. जब से मोदी सरकार आयी है तब से कांग्रेस के बेहतर कार्यों को खत्म किया है. 2013 में किसानों के हित में ही कांग्रेस ने भूमि अधिग्रहण कानून लायी थी, लेकिन मोदी सरकार ने अध्यादेश लाकर खत्म कर दिया.

किसानों के साथ नहीं, बल्कि पूंजीपतियों के साथ है मोदी सरकार :  सुबोधकांत

सुबोधकांत सहाय ने कहा कि काले कानून ने यह पता चल गया है कि मोदी सरकार किसानों के साथ नहीं, बल्कि पूंजीपतियों के साथ है. जीएसटी, नोटबंदी, किसान और श्रम बिल सरकारी स्कैम या कानून स्कैम है. आज देश गरीब हो रहा है. हर क्षेत्र में समस्या बढ़ रही है. वहीं देश के चंद पूंजीपति धनवान होते जा रहे है.

पुनः महाजनी प्रथा लाना चाहती है भाजपा : बन्ना

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि मोदी सरकार ने एक बार लोकतंत्र की हत्या की है. आज देश की आत्मा माने जाने वाले किसान और मजदूरों को बर्बाद करने तुली है. भाजपा पूंजीपतियों को शीर्ष पर बैठाकर पुनः महाजनी प्रथा को देश में लागू करना चाह रही है.

सांसद गीता कोड़ा ने कहा कि छोटे किसान तो पहले से ही परेशान रहते है. ऊपर से मोदी सरकार का काला कानून किसानों को मानसिक गुलामी में भेजने की तैयारी कर चुकी है.

इसे भी पढ़ें- 24 घंटे में गिरिडीह पुलिस ने एक करोड़पति समेत 26 साइबर क्रिमिनल्स को किया गिरफ्तार

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button