ChatraJharkhandLead News

चतरा : ‘सोना’ उपजाकर भी किसान कंगाल, बिचौलिए मालामाल

धान क्रय केंद्र नहीं खुलने से औने-पौने दाम में धान बेच रहे किसान,9-10 रुपये किलो धान खरीद रहे बिचौलिए

Chatra: जिले में सरकारी धान क्रय केंद्र नहीं खुलने से किसान बिचौलियों के हाथों धान बेच रहे हैं. किसान कंगाल और बिचौलिए मालामाल हो रहे है. बिचौलिए किसानों से मात्र 9-10 रुपए किलो धान खरीद रहे हैं. जबकि सरकारी धान क्रय केंद्रों में 20 रुपये 50 पैसे का दर है. ऐसे में किसानों को 11 – 12 रुपए का नुकसान हो रहा है. यह नुकसान किसानों को खून के आंसू रूला रहा है.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : आउटसोर्सिंग कंपनी के GM की गाड़ी पर फायरिंग, ड्राइवर जख्मी

advt

बंपर पैदावार का लाभ किसानों को नहीं मिल पाया

इस वर्ष धान की शानदार उपज हुई है, किंतु सरकारी धान क्रय केंद्र नहीं खुलने से इस बंपर पैदावार का लाभ किसानों को नहीं मिल पाया. किसान ओने-पौने दाम में धान बेच रहे हैं और सरकार को कोस रहे हैं. किसानों का कहना है कि धान के रखरखाव में परेशानी, पैसों की किल्लत और कर्ज की देनदारी के चलते किसान धान की बिक्री में लेट नहीं कर पाते और उसे तत्काल बेचना चाहते हैं. यही कारण है कि बिचौलिए ओने-पौने दाम पर किसानों के धान खरीद रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : गिरिडीह  : तीन बाईक सवार अपराधियों ने जेवर व्यवसायी को लूटा, जेवर से भरा बैग लेकर हुए फरार

किसान बिचौलियों के हाथों ओने पौने भाव में धान बेचने को विवश

किसान सुभाष मिश्रा कहते हैं कि सरकार के द्वारा अब तक धान की खरीदारी शुरू नहीं कराई गई है. ऐसे में किसान बिचौलियों के हाथों ओने पौने भाव मे धन बेंचने को विवश हैं. सरकार अगर धान की खरीददारी शुरू जर देती तो किसानों को कुछ राहत मिलता.  बिचौलिया मो तस्लीम ने बताया कि गांव में धान की खरीददारी 8 से 9 रुपये कर रहे हैं और इसे बिचौलियों को 11 से 12 रुपये दे रहे हैं.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: