न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

15 अगस्‍त 2019 को बनकर तैयार होगा दुमका में खादी पार्क

भाजपा जो कहती है उसे पूरा करने में विश्‍वास रखती है : लुइस मरांडी

132

Dumka : प्रस्तावित खादी पार्क का वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ भूमि पूजन शनिवार को संपन्न हुआ. भूमि पूजन के समय समाज कल्याण मंत्री डॉ लुइस मरांडी, झारखंड राज्य खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ समेत अन्‍य लोग उपस्थित थे. एक करोड़ 99 लाख की लागत से खादी पार्क का निर्माण किया जाना है. एक करोड़ 57 लाख की लागत से खादी पार्क के भवन का निर्माण किया जायेगा. वहीं 42 लाख की लागत से चाहरदीवारी का निर्माण का कार्य करवाया जायेगा. बीएसएनएल के द्वारा उक्त कार्य होगा. 15 अगस्त 2019 तक निर्माण कार्य को पूर्ण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

इसे भी पढ़ें-स्वच्छता के लिए सभी का सहयोग जरूरी : अविनाश देव

सरकार संताल परगना के सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्पित

इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए समाज कल्याण मंत्री डॉ लुइस मरांडी ने कहा कि खादी पार्क के निर्माण से यहां के लोगों को रोजगार के कई नए अवसर प्राप्त होंगे. उन्होंने कहा कि सरकार दुमका और संताल परगना के सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्पित है. भाजपा जितना करती है, उतना ही बोलती है. जितना बोलती है, उतना करती है. भाजपा घोषणाओं की सरकार नहीं है. उन्होंने कहा कि यहां पूर्व में शिलान्यास हो चुका था. सिर्फ शिलान्यास करने से चीट टाईप का लोकप्रियता हासिल करने की आदत भाजपा को नहीं है. मुख्यमंत्री ने इस दिशा में निर्देश दिया था कि हवा में घोषणा नहीं करेंगे. एजेंसी निर्धारित होने के बाद ही सरकार शिलान्यास की है.

इसे भी पढ़ें-नामकुम के हेसापीड़ी में उत्पाद विभाग ने की छापामारी, शराब बनाने का सामान बरामद

सिल्क उत्पादन में दुमका पहले पायदान पर

उन्होंने कहा कि मोमेंटम झारखंड की तर्ज पर सरकार ने छोटे बड़े उद्योग को स्थापित करने का कार्य कर रही है. जिससे युवा एवं महिलाएं स्वरोजगार से जुड़ रही है. दुमका, राज्य में सिल्क के उत्पादन में अपना पहला स्थान रखता है. यहां की महिलाओं को सिल्क के निर्माण से जोड़ा जा रहा है, उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार ने जितने भी वादे लोगों से किए थे, सभी को पूरा करने का कार्य किया है. केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार ने लोगों के दर्द को समझा है. सरकार ने विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लोगों के चेहरे में खुशहाली लाने का कार्य किया है. उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा कि खादी पार्क ससमय बनकर तैयार हो जायेगा. स्थानीय लोगों से इस निर्माण कार्य में सहयोग की अपील की.

इसे भी पढ़ें-बोकारो शहरी क्षेत्रों में फुटपाथ मिठाई दुकानों पर फूड सेफ्टी विभाग ने की छापामारी

महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है

झारखंड़ राज्य खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ ने संबोधित करते हुए कहा कि खादी पार्क संताल परगना एवं दुमका के लिए किसी उपहार से कम नहीं है. 10 महीनों के अंदर खादी पार्क के निर्माण को पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. बहुत जल्द निर्माण कार्य प्रारंभ होगा. इस नवनिर्मित खादी पार्क में संग्राहलय,  ट्रेनिंग सेंटर, प्रोडक्ट सेंटर होगा. साथ ही इस नवनिर्मित भवन में तसर के धागा उत्पादन कार्य एवं तसर के साड़ी के उत्पादन का कार्य भी प्रारंभ हो जायेगा. उन्होंने कहा कि महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें-एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह को डीवीसी अध्यक्ष का अतिरिक्त प्रभार

जल्‍द ही 10 हजार मधुमक्खी पालन बक्सों का वितरण

सिलाई ट्रेनिंग की 38 योजनाएं पूरे झारखंड में चल रही है. 6 महीने की ट्रेनिंग के बाद महिलाओं को 20  हजार की मशीन 5 हजार में उपलब्ध करायी जाती है. टेराकोटा, लाह, मधुमक्खी पालन जैसे कार्यो से जोड़कर उनके जीवन स्तर में सुधार लाने का कार्य किया जा रहा है. अब तक 1500  मधुमक्खी पालन के बक्से को वितरित किया गया है. सात दिनों की मधुमक्खी पालन की ट्रेनिंग दी जा रही है. मधुमक्खी पालन कर एक किसान को एक वर्ष में 60 हजार से 70  हजार की अतिरिक्त आय होती है. प्रधानमंत्री के आह्वान पर पूरे झारखंड में मीठी क्रांति आ चुकी है. बहुत जल्द 10 हजार मधुमक्खी पालन के बक्सों को किसानों के बीच वितरित किया जायेगा. जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार आ सकेगा. यहां के किसानों के द्वारा उत्पादित मधु को ‘‘अमृता‘‘ के नाम से बाजार में बेचा जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: