Crime NewsJamshedpur

डीएसपी पर लगा यौन शोषण का आरोप, युवती ने राज्यपाल, मुख्यमंत्री और डीजीपी से शिकायत

विज्ञापन
  • डीएसपी ने कहा- सारे आरोप बेबुनियाद

Jamshedpur : राज्य के एक डीएसपी पर यौन शोषण का आरोप लगा है. इसकी शिकायत राज्यपाल, मुख्यमंत्री और डीजीपी से की गयी है. शिकायतकर्ता हजारीबाग की रहनेवाली है. शिकायत में कहा गया है कि जमशेदपुर में पोस्टेड डीएसपी अरविंद कुमार ने पीड़िता को शादी का झांसा देकर यौन शोषण किया है. इस मामले की शिकायत सीएम सहित कई अन्य सक्षम अधिकारियों से की जा चुकी है. मामले में अभी तक कार्रवाई नहीं हुई है. युवती ने शिकायत में कहा है कि डीएसपी ने पहले ही दूसरी शादी रचा ली है.

इसे भी पढ़ें- कपड़ा फैक्ट्री में काम कराने को ले जायी जा रही थीं 58 लड़कियां, पुलिस ने पकड़ा, बस जब्त

अनर्गल आरोप लगाकर ब्लैकमेल कर रही है युवती

इधर, डीएसपी अरविंद कुमार पूरे आरोप को सिरे से खारिज कर रहे हैं. उनका कहना है कि युवती अनर्गल आरोप लगाकर ब्लैकमेल कर रही है. उन पर लगाये गये सारे आरोप बेबुनियाद हैं.

पीड़िता ने बताया है कि उसका संपर्क डीएसपी से एक सहेली के माध्यम से हुआ है. वह सहेली डीएसपी की भाभी की बहन है. उसी के जरिये पीड़िता का परिचय वर्ष 2016 में डीएसपी से हुआ था. इसके बाद दोनों के बीच मोबाइल नंबर का आदान-प्रदान हुआ. काफी समय तक दोनों की बात हुई. इसी से दोनों की दोस्ती बढ़ती गयी. कई बार अलग-अलग पार्क और मंदिरों में दोनों का साथ घूमना-फिरना भी हुआ.

पीड़िता संत कोलंबस कॉलेज हजारीबाग में बीएड द्वितीय वर्ष की छात्रा थी. पढ़ाई के लिए हजारीबाग में किराये के मकान में रहती थी. डीएसपी अरविंद हमेशा उससे मुलाकात करने के लिए उसके पास किराये के मकान में आया-जाया करते थे. उन्‍होंने उसके कमरे में आकर वर्ष 2016 से 2017 के दौरान शारीरिक संबंध बनाया. उसी दौरान पीड़िता ने डीएसपी अरविंद से शादी करने के लिए कहा, तो उन्होंने इनकार कर दिया. युवती के मुताबिक, डीएसपी अरविंद ने बताया कि उनकी शादी कहीं और तय हो गयी है. लड़की वाले 25 लाख रुपये और चारपहिया गाड़ी उन्हें दे रहे हैं.

धमकाने का भी लगाया आरोप

पीड़िता का आरोप है कि डीएसपी ने उसे धमकाया भी है. डीएसपी अरविंद की बातें सुनकर पीड़िता डिप्रेशन में आ गयी. इसके बाद उसके घरवाले उसे वापस रांची लेकर आ गये. वहां उसे सदर अस्पताल में भर्ती कर 15 दिन रखा गया. इस दौरान डीएसपी अरविंद उससे मुलाकात करने के लिए रांची आये और सांत्वना दिया. उन्होंने कहा कि वह जल्द उससे शादी करेंगे. इसके बाद पीड़िता के माता-पिता ने अरविंद के पिता से संपर्क किया और घटना के बारे में अवगत कराया. इसे लेकर दोनों पक्षों के बीच हजारीबाग स्थित मंदिर में कई बार बैठक भी हुई. अरविंद के पिता ने कहा था कि जितना पैसा पहले लड़की वाले दे रहे हैं, उतना पैसा अगर पीड़िता के परिवार वाले देंगे, तो वह शादी करने के लिए तैयार हैं.

इस पर पीड़िता के परिवार ने डीएसपी के पिता को समझाया कि उनके पास इतने पैसे नहीं हैं और हैसियत के हिसाब से 9.51 लाख रुपये देने के लिए तैयार हुए. पीड़िता के अनुसार यह रकम डीएसपी के परिवार ने ले भी ली, लेकिन बाद में शादी से इनकार कर दिया.

इसे भी पढ़ें- मुंबई पुलिस ने देवघर से साइबर क्राइम के आरोपी को किया गिरफ्तार

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: