न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

Dhanbad: दिन-दहाड़े गोली मार कर माइक्रो फाइनेंस कर्मी से 80 हजार की लूट, सीसीटीवी खंगालने में जुटी पुलिस  

1,530

Dhanbad: तीन आईपीएस के बाबजूद धनबाद शहर में अब पुलिस के डर नाम की कोई चीज नहीं रह गयी है. आये दिन दिन दहाड़े लूट और छिनतई की घटनाएं हो रही हैं.

mi banner add

इसी कड़ी में सोमवार को दिन दहाड़े करीब साढ़े बारह बजे अपराधियों ने हाउसिंग कॉलोनी में सेट इन क्रेडिट केयर लिमिटेड नामक माइक्रो फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी धर्मेंद्र यादव को गोली मार करीब 80 हजार रुपये लूट ली. गोली यादव की पीठ में लगी है. उसे इलाज के लिए एशियन जालान अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इसे भी पढ़ेंः विधानसभा चुनाव : कांग्रेस और जेएमएम ने बनायी विशेष रणनीति, स्थानीय मुद्दों पर रहेगा जोर 

 हाउसिंग कॉलोनी छठ तालाब के पास घटी घटना

जानकारी के अनुसार हाउसिंग कॉलोनी में छठ तालाब के पास घटना घटी. धनबाद शहर के पॉश हाउसिंग कॉलोनी स्थित एमआइजी-97 में सेट इन क्रेडिट केयर लिमिटेड का दफ्तर है. दफ्तर में ही कर्मचारी धर्मेंद्र यादव रहता है. वह बरवाअड्डा क्षेत्र से सोमवार को कलेक्शन कर बाइक से लौट रहा था. हाउसिंग कॉलोनी के छठ तालाब के पास अपराधियों ने यादव को गोली मार दी. गोली लगते ही एजेंट जमीन पर गिर पड़ा.

इसके बाद उसकी पीठ से बैग लेकर फरार हो गये. बैग में 80 हजार रुपये, टैब्स और कागजात आदि थे. स्थानीय लोगों ने जमीन पर गिरे पड़े भुक्तभोगी को जालान अस्पताल पहुंचाया जहां इलाज चल रहा है. यादव मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बलिया का रहने वाला है. एमआईजी हाउसिंग कॉलोनी में किराये के मकान लेकर कंपनी में कलेक्शन एजेंट की नौकरी करता है.

इसे भी पढ़ेंः डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त होने के आसार,  सीएम ममता का हर अस्पताल में पुलिस अधिकारी तैनात करने का आदेश 

पैसा कलेक्ट करके कार्यालय जा रहे थे

घायल ने बताया कि सोमवार को बरवाअड्डा से पैसा कलेक्ट करके कार्यालय जा रहे थे. हाउसिंग कॉलोनी छठ तालाब के पास पहुँचते ही पीछे से पल्सर बाइक पर सवार तीन अपराधी आकर बैग छीनने का प्रयास किया. इतने में धड़पकड़ हुई और एक ने गोली चला दी. इसके बाद बैग लेकर फरार हो गए. घायल ने बताया सभी अपराधी गमछे से चेहरा ढक हुए थे.

सूचना मिलते ही धनबाद पुलिस सक्रिय हो गयी. धनबाद सदर थाना प्रभारी नवीन कुमार राय घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने अपराधियों की शिनाख्त के लिए आस-पास के मकान में लगे सीसीटीवी कैमरा फुटेज को देखा. डीएसपी विधि व्यवस्था मुकेश कुमार ने अस्पताल में जाकर घायल से पूछताछ की.

इसे भी पढ़ेंः पलामू : जनजातियों ने घेरा समाहरणालय, नक्सली बताकर जेल भेजने का लगाया आरोप

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: