Corona_UpdatesNational

#corona पॉजिटिव का आंकड़ा देश में 13000 के पार, पिछले 24 घंटे में सामने आये 1007 केस, 23 की मौत

New Delhi: देश में कोरोना के मामलों में कमी नहीं आ रही है. अब तक कोरोना के कुल 13 हजार 387 केस सामने आए हैं, जबकि 437 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 1007 नये मामले सामने आये और 23 लोगों की मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ेंःबिहार: बक्सर-मुंगेर से #Corona के 8 नये मामले, कुल संख्या पहुंची 80

देश में सबसे ज्यादा 3202 केस महाराष्ट्र में है, जबकि 194 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं देश की राजधानी दिल्ली दूसरे नबंर पर है. यहां अब तक 1640 मामले सामने आ चुके हैं और 38 लोगों की मौत हो चुकी है. दिल्ली में दो दिनों तक नए मामलों में कमी के बाद गुरुवार को फिर से इस बढ़ोतरी देखी गयी है.

दिल्ली में 62 नए मामले

कोरोना वायरस संक्रमण मामलों में लगातार दो दिनों तक आयी गिरावट के बाद गुरुवार का दिन दिल्ली के लिए अच्छा नहीं रहा. गुरुवार को प्रदेश में 62 नये केस सामने आये. इससे पहले 14 अप्रैल को पहली बार दिल्ली में नए मामलों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी. 13 अप्रैल नए मामलों की संख्या 356 थी, जो 14 अप्रैल को घटकर 51 हो गई और 15 अप्रैल को इससे भी कम सिर्फ 17 नए मामले दर्ज किए गए थे.

वहीं महाराष्ट्र में संक्रमितों का आंकड़ा 3000 को पार कर चुका है. राज्य में 3202 केस महाराष्ट्र में है, जबकि 194 लोगों की मौत हो चुकी है. पुणे जिले में 60 नए मामले सामने आने के बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 497 हो गई है.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया जिले में मरने वालों की तादाद 47 हो गई है. अधिकारियों ने बताया कि पुणे शहर में कोरोना वायरस के 423 मामले रिपोर्ट हुए हैं जबकि पिंपरी चिंचवाड़ में 45 और जिले के ग्रामीण हिस्सों में 29 मामले सामने आए हैं.

यूपी में मृतकों का आंकड़ा 13 हुआ

उत्तर प्रदेश में कोविड—19 संक्रमण से दो और लोगों की मौत हो गयी. इसके साथ सूबे में मृतकों का आंकड़ा 13 हो गया है. राज्य में गुरुवार को 78 नये मामले सामने आने के साथ कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्तियों की तादाद बढ़कर 805 हो गयी है.

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमित दो और लोगों की मौत हो गई है. इस तरह इस बीमारी से मरने वालों की तादाद बढ़कर 13 हो गई है.

उन्होंने बताया कि मरने वालों में सबसे ज्यादा पांच लोग आगरा के हैं. इसके अलावा मुरादाबाद में 2 लोगों की मौत हुई है. लखनऊ, कानपुर, बस्ती, मेरठ, बुलंदशहर और वाराणसी में कोविड-19 की चपेट में आए एक-एक व्यक्ति की मृत्यु हो चुकी है.

राज्य में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 805 हो गयी है. ये मामले 48 जिलों के हैं. इनमें से अब तक 74 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं.

इस बीच, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने संवाददाताओं को बताया कि प्रदेश में कोविड—19 का पूल टेस्ट शुरू कर दिया गया है. ऐसा करने वाला यह देश का पहला राज्य है. बुधवार को आगरा में 150 नमूनों को पांच—पांच के 30 पूल बनाकर जांचा गया. सबकी रिपोर्ट निगेटिव आयी है.

उन्होंने कहा कि वे नमूने आगरा के ‘कंटेनमेंट जोन’ से बाहर के ‘बफर जोन’ से मंगवाये गये थे. हम देखना चाह रहे थे कि क्या संक्रमण ‘कंटेनमेंट जोन’ तक ही सीमित है, या फिर उसके बाहर भी पहुंचा है. प्रदेश के अन्य जिलों में भी पूल टेस्ट शुरू कराएंगे.

इसे भी पढ़ेंःजहां हैं, वहीं रूके रहें, सरकार हर संभव मदद करेगी: सुशील मोदी

इंदौर बना कोरोना का एपिसेंटर

देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में दो सगे भाइयों समेत आठ और मरीजों की इस महामारी से मौत की गुरुवार रात जानकारी सामने आयी. इसके बाद जिले में इस महामारी से मरने वाले लोगों की तादाद बढ़कर 47 पर पहुंच गयी, जबकि नये मामलों के बाद अब तक मिले कुल मरीजों की संख्या 842 पर पहुंच गयी है.

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने बताया कि 52 से लेकर 80 वर्ष तक की उम्र के आठ मरीजों ने शहर के अलग-अलग अस्पतालों में पिछले आठ दिनों के दौरान दम तोड़ा.

उन्होंने बताया कि कोविड-19 से पांच मरीजों की मौत गुरुवार को हुई जिनमें 63 वर्ष और 52 वर्ष की उम्र वाले दो सगे भाई शामिल हैं जो सर्राफा कारोबार से जुड़े थे. तीन अन्य लोगों की जांच रिपोर्ट उनकी मौत के बाद आयी जिसमें वे इस महामारी से संक्रमित पाये गये.

जड़िया ने बताया कि गुजरे 24 घंटे के दौरान दिल्ली और इंदौर की प्रयोगशालाओं से आयी जांच रिपोर्ट में जिले के 244 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई. इसके बाद जिले में इस बीमारी के कुल मरीजों की तादाद बढ़कर 842 पर पहुंच गयी है.

आंकड़ों की गणना से पता चलता है कि गुरुवार रात तक जिले में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर 5.58 प्रतिशत थी जो राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है.

कोरोना वायरस के पहले मरीज मिलने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से इंदौर की शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है. मध्य प्रदेश में अब तक कोरोना के 1164 मरीज सामने आए हैं. पूरे प्रदेश में 63 लोगों की मौत हुई है.

इसे भी पढ़ेंः#Giridih: क्वारेंटाइन सेंटर की ड्यूटी में लगे चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी खुद क्वारेंटाइन पूरा करके ही जा सकेंगे घर

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close