Corona_UpdatesNational

#Corona_Effect रेल मंत्रालय ने कहा- 15 अप्रैल से नहीं चलेंगी ट्रेनें, अभी और करना होगा इंतेजार

 

New Delhi : रेलवे मंत्रालय की ओर से एक ट्वीट कर कहा गया है कि रेल सेवाओं को बहाल करने की अभी कोई योजान नहीं है. रेल मंत्रालय ने यह स्पष्ट किया है कि रेल सेवा से संबंधित ऐसी कोई सूचना मंत्रालय की ओर से जारी नहीं की गयी है. गौरतलब है कि आज मीडिया में खबरें आ रही थीं कि रेल सेवाएं 15-16 अप्रैल से बहाल हो सकती है.

आज सूचना आयी थी कि रेलवे ने कोरोना वायरस के कारण यात्री ट्रेनों को 21 दिन तक स्थगित करने के बाद 15 अप्रैल से अपनी सभी सेवाएं बहाल करने की तैयारी शुरू कर दी है.

इसे भी पढ़ेंः ओडिशा में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 54 लोगों को जबरन आइसोलेशन सेंटर में भेजा गया

सूत्रों ने बताया था कि रेलवे के सभी सुरक्षा कर्मियों, स्टाफ, गार्ड, टीटीई और अन्य अधिकारियों को 15 अप्रैल से अपने-अपने कार्यस्थलों पर लौटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है.

adv

ट्रेनों का संचालन सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद ही शुरू होगा. सरकार ने इस मुद्दे पर मंत्रियो का समूह गठित किया है. इस बीच, कथित रूप से रेलवे ने ट्रेनों के संचालन की समयसारिणी, उनके फेरे और बोगियों की उपलब्धता के साथ अपने सभी रेल जोनों को सेवाओं को ‘‘बहाल करने की योजना’’ जारी की है.

इसे भी पढ़ेंः राजीव अरुण एक्का को सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव और जेबीवीएनएल के एमडी का भी प्रभार

सूत्रों ने यह भी जानकारी दी थी कि सभी 17 जोनों को अपनी-अपनी सेवाएं संचालित करने के लिए तैयार रहने का संदेश दिया गया है. 15 अप्रैल से करीब 80 प्रतिशत ट्रेनों के निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार चलने की संभावना है जिनमें राजधानी, शताब्दी, दुरंतो ट्रेनें शामिल हैं.

स्थानीय ट्रेनों की सेवाएं भी चालू हो सकती हैं. सूत्रों ने बताया कि इस सप्ताह के अंत में जोनों को ठोस कार्य योजना भेजी जाएगी.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री द्वारा 24 मार्च को बंद की घोषणा करने के बाद अभूतपूर्व कदम उठाते हुए रेलवे ने 21 दिनों के लिए 13,523 ट्रेनों की सेवाएं निलंबित कर दी थी. इस दौरान उसकी मालवाहक ट्रेनें चलती रही हैं.

इसे भी पढ़ेंः #FightAgainstCorona : मेडिकल उपकरण बनानेवालों ने केंद्र सरकार पर लगाया आरोप – ‘हमने पांच हफ्ते गंवा दिये’

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button