JharkhandLead NewsRanchi

27 सितंबर को कृषि कानून के खिलाफ कांग्रेस का भारत बंद

Ranchi : केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में 27 सितंबर को भारत बंद किया जा रहा है. कांग्रेस भवन में हुई सर्वदलीय बैठक में सोमवार को इस पर चर्चा की गयी. बैठक का आयोजन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर की अध्यक्षता में हुई. इस भारत बंद को लेकर पूरी रणनीति पर चर्चा की गयी.

इस बंदी को जेएमएम, कांग्रेस, मासस, सीपीएम सहित अन्य वाम दलों का समर्थन है. इस बैठक में हुई चर्चा के मुताबिक 26 सितंबर को मशाल जुलूस निकाला जायेगा. इसके अतिरिक्त 29 सितंबर को सभी जिला मुख्यालयों में प्रदर्शन भी किया जायेगा.

advt

बैठक में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष शहजादा अनवर, झामुमो के विनोद पांडेय, वाम दलों की ओर से पूर्व सांसद भुवनेश्वर मेहता सहित अन्य दलों के नेता भी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें: हैवियस कॉर्पस मामलाः हाइकोर्ट ने किया फैसला- कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में पढ़ेगी नाबालिग

आम जनता की फिक्र नहीं : झामुमो

विनोद पांडे ने कहा कि संसद में अभूतपूर्व दृश्य देखा गया. विपक्षी विरोध को बाधित करने के लिए तैनात मार्शलों द्वारा महिला सांसदों सहित अन्य सांसदों को घायल कर दिया गया. विपक्ष को देश और आम जनता से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों को उठाने के उनके अधिकार से वंचित किया गया.

केन्द्र सरकार के घोर कुप्रबंधन के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था का विनाश हो रहा है. करोड़ों युवा बेरोजगारी के शिकार हो रहे. 9 महीने से किसान दिल्ली बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ हैं पर केंद्र उनकी सुनवाई नहीं ले रहा. ऐसे में अब किसान संघों के साथ यूपीए सहित अन्य दल भारत बंद के सपोर्ट में सड़कों पर उतरेंगे.

इसे भी पढ़ें: हैवियस कॉर्पस मामलाः हाइकोर्ट ने किया फैसला- कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में पढ़ेगी नाबालिग

भुवनेश्वर मेहता ने कहा कि संसद में सरकार देश ज्वलित मुद्दों पर चर्चा नहीं कर रही. सरकार के पास जीवन और आजीविका सुरक्षित करने का कोई समाधान भी नहीं दिखता.

पेट्रोलियम और डीजल पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क में अभूतपूर्व वृद्धि को केंद्र को वापस लेना चाहिए. तेजी से बढ़ती मुद्रास्फीति को नियंत्रित करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें: खुशखबरीः भारत और न्यूजीलैंड के बीच जेएससीए स्टेडियम में 19 नवंबर को खेला जायेगा टी-20 मैच

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: