JharkhandRanchi

झारखंड महागठबंधन : सीट का दावा कर प्रेशर पॉलिटिक्स में उतरीं कांग्रेस-आरजेडी

Ranchi : विधानसभा चुनाव नजदीक आते देख बीजेपी लगातार महागठबंधन के घटक दलों पर हमला बोल रही है. वहीं महागठबंधन के घटक दल भी अपने सहयोगी पार्टियों को कमजोर करने पर तुले हैं.

Jharkhand Rai

क्षेत्रवार रैलियों की शुरूआत कर घटक दल मैसेज दे रहे हैं कि बीजेपी के खिलाफ मजबूत महागठबंधन बनाने की डगर पर वे चल पड़े हैं. कांग्रेस और आरजेडी की राजनीति कमोबेश इसी रणनीति पर काम कर रही है.

मीडिया के सामने हाल में दोनों पार्टी के शीर्ष नेताओं ने जितनी सीटों पर दावा ठोंका है, उससे संकेत तो यही मिल रहा है. दरअसल क्षमता से ज्यादा सीटें मांग कर दोनो पार्टी येन-केन प्रकारेण मुख्य विपक्षी दल जेएमएम पर प्रेशर पॉलिटिक्स आजमा रही हैं.

इसे भी पढ़ेंः #PopeFrancis ने वेटिकन सिटी में केरल की नन #MariamThresia को संत घोषित किया

Samford

कांग्रेस नेता कह रहे पार्टी को चाहिए 35 सीट

हाल ही कांग्रेस के नये प्रदेश अध्यक्ष बने रामेश्वर उरांव पूरी तरह से चुनावी मोड पर उतर आये हैं. संथाल परगना से प्रचार अभियान की शुरूआत कर रामेश्वर उरांव ने कहा है कि कांग्रेस विधानसभा चनाव में 35 सीटों पर प्रत्याशी देने को तैयार हैं.

इन 35 सीटों में से अभी कांग्रेस के 3 सीटिंग विधायक है. वहीं इसे लेकर कांग्रेस संथाल की 3 सीटों पर दावा करेगी. इसमें वैसी सीटें प्रमुख हैं, जहां बीजेपी के सीटिंग विधायक है. बता दें कि गत 26 सितम्बर को #News Wing  ने खबर छापी थी कि संथाल पर पार्टी 8 सीटों पर दावा ठोंकेगी.

इसे भी पढ़ेंः #Miss_Scuba_INDIA:  पर्यावरण को बचाने के लिए #Steaffy_Shaji को पहनाया गया सुंदरता का ताज

इसमें सीटिंग सीट पाकुड़ (आलमगीर आलम), जरमुंडी (बादल पत्रलेख) और जामताड़ा (इरफान अंसारी) क अलावा 5 सीट महगामा, राजमहल, सारठ, गोड्डा, दुमका सीट शामिल हैं. अभी इन पांच सीटों पर बीजेपी का कब्जा है.

हेमंत को CM बनाने के एवज में RJD चाह रही 15 सीट

कांग्रेस के प्रेशर पॉलिटिक्स को देख अब आरजेडी भी इसी रणनीति पर चल पड़ी है. हाल में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने एक कार्यक्रम में कहा है कि आरजेडी विधानसभा चुनाव में 15 सीटों चुनाव लड़ने की तैयारी है.

वे यहीं तक नहीं रूके, उन्होंने कहा कि जेएमएम कार्यकारी अध्य़क्ष हेमंत सोरेन अगर सीएम बनना है, तो उनकी पार्टी को कई सीटों को छोड़ना पडेगा. बयान देते हुए अभय सिंह ने हेमंत को नसीहत दी है कि महागठबंधन में वे बड़े भाई की भूमिका में है. उन्हें सभी दलों को साथ लेकर चलना होगा.

शीट शेयरिंग पर बातचीत शुरू, शीर्ष नेता घटक दलों से कर रहे मुलाकात

वही घटक दल के नेता हेमंत सोरेन को नेता मानने के साथ इसे बनाने के लिए कवायद शुरू कर दी है. कार्यक्रम में आरजेडी और कांग्रेस के शीर्ष नेता ने कहा है कि महागठबंधऩ के स्वरूप पर और सीट शेयरिंग का स्वरूप जल्द हो जायेगा.

इससे पहले भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुबोधकांत सहाय ने जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल से मुलाकात कर महागठबंधन को अंतिम रूप देने की तैयारी में है. इससे पहले कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने भी हेमंत सोरेन से मुलाकात कर महागठबंधन के स्वरूप पर चर्चा की है.

इसे भी पढ़ेंः #Japan में 60 सालों में सबसे भयंकर #TyphoonHagibis, 14 की मौत, तेज बारिश ने कहर बरपाया

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: