न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोलेबिरा उपचुनावः मेनन एक्का को मिला गुरुजी का आशीर्वाद

बुधवार को jmm अध्यक्ष शिबू सोरेन से उनके आवास में मिलीं मेनन एक्का, महागठबंधन के उम्मीदवार पर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, सभी दलों में विचार-विमर्श जरूरी

111

Ranchi: कोलेबिरा उपचुनाव में महागठबंधन के उम्मीदवार को लेकर असमंजस बरकरार है. अभी तक विपक्षी दलों में से किसी का भी बयान नहीं आया है. वहीं बुधवार को पूर्व मंत्री एनोस एक्का की पत्नी औऱ कोलेबिरा उपचुनाव की प्रत्याशी मेनन एक्का ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुप्रीमो शिबू सोरेन से मुलाकात की. इस मुलाकात के माना जा रहा है कि दिशोम गुरु ने मेनन एक्का को अपना आशीर्वाद दे दिया है. यह कयास लगाया जा रहा है कि अप्रत्यक्ष तौर से jmm की तरफ से मेनन एक्का को समर्थन मिल गया है. सूत्रों के अनुसार झामुमो अब कोलेबिरा में अपना प्रत्याशी नहीं देगा. हालांकि इस मामले में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय ने साफ तौर पर कहा है कि महागठबंधन का उम्मीदवार आपसी विचार-विमर्श कर ही तय किया जाएगा.

भाजपा जैसी सांप्रदायिक शक्तियों को हराने के लिए एकजुटता जरूरी: शिबू सोरेन

मेनन एक्का से मुलाकात के बाद शिबू सोरेन ने कहा कि भाजपा जैसी सांप्रदायिक शक्तियों को परास्त करने के लिए जरूरी है कि एकजुट हो कर चुनाव लड़ा जाए. भाजपा को हारने के लिए मेनन एक्का को पूरा समर्थन रहेगा. गुरुजी के आशीर्वाद के बाद यह कयास लगाया जा रहा है कि कोलेबिरा उपचुनाव के लिए पूर्व मंत्री एनोस एक्का की पत्नी मेनन एक्का विपक्ष का साझा उम्मीदवार हो सकती हैं. हालांकि इस दौरान शिबू सोरेन ने यह भी कहा कि इस मामले मे पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ही अंतिम फैसला लेंगे. हेमंत इसके लिए विपक्ष के अन्य दलों के साथ बैठक कर महागठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार की औपचारिक घोषणा करेंगे.

गुरुजी का आशीर्वाद मिला अब जीत पक्की : मेनन एक्का

विपक्ष के साझा उम्मीदवार होने के कयास पर मेनन एक्का ने भी अप्रत्यक्ष तौर पर पुष्टि कर दी. शिबू सोरेन से मुलाकात के बाद मेनन एक्का ने मीडिया से बातचीत कहा कि उन्हें गुरुजी का आशीर्वाद मिल गया है और अब कोलेबिरा में उनकी जीत पक्की है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने किया खंडन, महागठबंधन के उम्मीदवार पर आपसी विचार-विमर्श जरूरी

मेनन एक्का की गुरुजी से मुलाकात और उनके महागठबंधन के साझा उम्मीदवार बनने के सवाल पर डॉ अजय ने साफ तौर पर खंडन किया है. न्यूजविंग से बातचीत में उन्होंने कहा कि गुरुजी झारखंड के एक बड़े नेता हैं. ऐसे में कोई भी नेता उनसे मुलाकात कर सकता है लेकिन यह कहना कि वह महागठबंधन का उम्मीदवार होगा, साफ तौर पर गलत है. महागठबंधन के उम्मीदवार के लिए यह जरूरी है कि सभी दल आपसी विचार-विमर्श के बाद उम्मीदवार तय करें. उन्होंने कहा कि एक-दो दिन में इसकी पुष्टि हो जाएगी कि महागठबंधन का उम्मीदवार कौन होगा.

silk_park

भाजपा ने तय नहीं किया है अपना उम्मीदवार

इस उपचुनाव में एनोस एक्का की पत्नी मेनन एक्का उम्मीदवार हैं. वहीं अभी तक महागठबंधन के बीच उम्मीदवार को लेकर कोई फैसला नहीं किया गया है. ऐसा माना जा रहा है कि एक-दो दिन में महागठबंधन के उम्मीदवार पर फैसला हो जायेगा. इधर सत्तारूढ़ भाजपा ने भी अपने पत्ते नहीं खोले हैं. अभी तक उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं की गयी है.

एनोस एक्का को सजा मिलने के बाद सीट हुई थी खाली, 20 दिसम्बर को होगा मतदान

मालूम हो कि पारा शिक्षक हत्याकांड में पूर्व मंत्री एनोस एक्का को सजा मिलने के बाद कोलेबिरा सीट खाली हो गयी थी. इस सीट पर उपचुनाव होने जा रहा है. इसके लिए चुनाव आयोग ने 20 दिसम्बर को मतदान और 23 दिसम्बर को मतगणना की तिथि निर्धारित की है. उपचुनाव को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

इसे भी पढ़ें – 34 पारा शिक्षकों को मिली जमानत, 10-10 रुपए के निजी मुचलके पर हुए रिहा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: