BusinessLead News

क्रिस गोपालकृष्णन रिजर्व बैंक इनोवेशन सेंटर के पहले चेयरपर्सन नियुक्त

Mumbai : इन्फोसिस के सह-संस्थापक एवं पूर्व सह-चेयरमैन सेनापति (क्रिस) गोपालकृष्णन को भारतीय रिजर्व बैंक के नवोन्मेषण केंद्र का पहला चेयरपर्सन नियुक्त किया गया है. केंद्रीय बैंक ने अगस्त में रिजर्व बैंक नवोन्मेषण केंद्र (आरबीआइएच) की स्थापना करने की घोषणा की थी. केंद्रीय बैंक का उद्देश्य इस केंद्र के जरिये प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर वित्तीय क्षेत्र में नवोन्मेषण को प्रोत्साहन देना और तेजी से नवप्रवर्तन के लिए वातावरण का सृजन करना है.

इसे भी पढ़ें: तबलीगी जमात समागम की मीडिया रिपोर्टिंग के मामले पर केंद्र के जवाब से सुप्रीम कोर्ट संतुष्ट नहीं

स्टार्ट अप को समर्थन देनेवाला सेंटर

ram janam hospital
Catalyst IAS

रिजर्व बैंक ने मंगलवार को बयान में कहा कि क्रिस गोपालकृष्णन को आरबीआइएच का पहला चेयरपर्सन नियुक्त किया गया है. गोपालकृष्णन फिलहाल स्टार्टअप विलेज के मुख्य सलाहकार हैं. यह स्टार्टअप को समर्थन प्रदान करने का केंद्र है.

The Royal’s
Sanjeevani

आरबीआइएच का निर्देशन और प्रबंधन चेयरपर्सन की अगुवाई वाली संचालन परिषद करेगी. संचालन परिषद के अन्य सदस्यों में सीईओ (अभी नियुक्त होना है, अशोक झुनझुनवाला (आइआइटी-मद्रास के संस्थान प्रोफेसर), एच कृष्णमूर्ति (प्रमुख शोध वैज्ञानिक, आइआइएससी-बेंगलुरु), गोपाल श्रीनिवासन (चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक टीवीएस कैपिटल फंड्स), एपी होता (पूर्व सीईओ एनपीसीआइ), मृत्युंजय महापात्रा (पूर्व सीएमडी सिंडिकेट बैंक), टी रवि शंकर (कार्यकारी निदेशक, आरबीआइ), दीपक कुमार (मुख्य महाप्रबंधक, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग-आरबीआइ) और के निखिला (निदेशक-बैंकिंग प्रौद्योगिकी विकास एवं अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद) शामिल हैं.

रिजर्व बैंक ने कहा कि आरबीआइएच ऐसा पारिस्थितिकी तंत्र तैयार करेगा जिससे वित्तीय सेवाओं और उत्पादों तक पहुंच बढ़ेगी. इससे वित्तीय समावेशन को भी प्रोत्साहन मिलेगा.

इसे भी पढ़ें: Corona Update : देश में संक्रमण के नये मामलों में आयी गिरावट, चार महीने बाद एक दिन में संक्रमण का आंकड़ा 30 हजार से नीचे रहा

Related Articles

Back to top button