Khas-KhabarNational

#RaisinaDialogue2020 में बोले CDS रावतः आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं होने वाली

विज्ञापन

New Delhi: दिल्ली में रायसीना डायलॉग 2020 में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने कहा कि जब तक आतंकवाद प्रायोजित करने वाले देश हैं, तब तक हमें इस खतरे का सामना करते रहना होगा.

हमें इससे निर्णायक ढंग से निपटना होगा. अगर हमें ऐसा लगता है कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई खत्म होने वाली है, तो हम गलत हैं.

इसे भी पढ़ेंः#Sensex ने पहली बार छुआ 42 हजार का आंकड़ा, यूएस-चीन के बीच ट्रेड डील से बाजार में उछाल

प्रमुख रक्षा अध्यक्ष बिपिन रावत ने कहा कि ऐसे लोग साथी नहीं हो सकते जो आतंकवाद पर वैश्विक युद्ध में भागीदारी कर रहे हों और आतंकवाद को प्रायोजित भी कर रहे हों. .आतंकवाद प्रयोजित करने वाले देशों को राजनयिक स्तर पर अलग-थलग करना चाहिए, आतंकवाद के प्रायोजक किसी भी देश को जवाबदेह ठहराना होगा.

जनरल रावत ने तालिबान के साथ बातचीत पर कहा कि आपको सभी के साथ शांतिपूर्ण संबंध स्थापित करने चाहिए लेकिन इस शर्त पर कि आपको आतंकवाद छोड़ना होगा. अगर हम सही लोगों को निशाना बनाएं तो ऑनलाइन कट्टरता खत्म कर सकते हैं, हमें कट्टर विचारधारा से निपटना होगा.

आतंकवाद के प्रायोजक देशों को जवाबदेह ठहराना होगा- रावत

‘रायसीना डायलॉग’ को संबोधित करते हुए जनरल रावत ने यह भी कहा कि आतंकवाद से निपटने के लिए बेहद कड़ा रुख अपनाने की जरूरत है, उसी तरह जिस तरह 9/11 आतंकी हमले के बाद अमेरिका ने आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई की थी.

इसे भी पढ़ेंः#RautExposedIndiraGandhi: राउत का दावा- गैंगस्टर करीम लाला से मिली थीं इंदिरा गांधी

परोक्ष रूप से पाकिस्तान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘जब तक आतंकवाद प्रायोजित करने वाले देश हैं, तब तक हमें इस खतरे का सामना करते रहना होगा. हमें इससे निर्णायक ढंग से निपटना होगा और इसकी जड़ पर वार करना होगा.’

जनरल रावत ने कहा, ‘‘ अगर हमें लगता है कि आतंकवाद के खिलाफ युद्ध खत्म होने वाला है, तो हम गलत हैं. आतंकवाद प्रायोजित करने वाले देश आतंकी तंत्र के खिलाफ वैश्विक लड़ाई का हिस्सा नहीं हो सकते. ’’

प्रमुख रक्षा अध्यक्ष ने कट्टरवाद पर लगाम कसने के बारे में कहा कि सही लोगों को निशाना बनाकर यह किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि कट्टरवादी विचारधारा से निपटने की जरूरत है.

तालिबान के साथ बातचीत का समर्थन करने के सवाल पर जनरल रावत ने कहा कि सभी के साथ शांतिवार्ता शुरू करना चाहिए लेकिन इस शर्त पर कि वे आतंकवाद को छोड़ें.

इसे भी पढ़ेंः#Odisha के कटक में ट्रेन हादसा, पटरी से उतरी लोकमान्य तिलक की आठ बोगियां, 20 घायल

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: