न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो : मासूम का अपहरण कर फिरौती वसूलने के बाद की थी हत्या, तीन दोषियों को सजा-ए-मौत

647

Bokaro : बोकारो के जिला व्यवहार न्यायालय में न्यायाधीश द्वितीय जर्नादन सिंह ने एक ऐसा फैसला सुनाया जो राज्य भर में चर्चा का विषय बना हुआ है.

अदालत ने मासूम अंकित उर्फ सुधांशु को फिरौती के लिए अगवा कर हत्या करने वाले तीन हत्यारों को फांसी की सजा सुनायी है. दोषियों में विवेक कुमार, संजय कुमार और संजय कुमार रजक शामिल हैं.

Mayfair 2-1-2020

अदालत ने तीनों पर अपहरण के लिए धारा 364 के तहत आजीवन कारावास और साक्ष्य छुपाने के लिए धारा 201 के तहत 5 वर्ष की सजा के साथ तीनों धाराओं में 50-50 हजार रुपये जुर्माने की सजा दी है.

जुर्माने की 4.50 लाख रुपये की राशि अंकित के पिता को दी जायेगी. पीड़ित पक्ष के वकील ने बताया कि जज ने इस केस को रेयर ऑफ द रेयरेस्ट माना है.

इसे भी पढ़ें : #Dhullu तेरे कारणः पूर्व बियाडा अध्यक्ष विजय झा ने विधायक ढुल्लू महतो के खिलाफ शुरू किया सत्याग्रह

Vision House 17/01/2020

बीस लाख रुपये फिरौती की मांग की गयी थी

बता दें कि मासूम अंकित उर्फ सुधांशु को फिरौती के लिए अगवा कर हत्या की घटना वर्ष 2013 के 26 नवंबर को घटी थी.

बताया जाता है कि सेक्टर 4 थाना क्षेत्र स्थित सेक्टर चार सी में अपने मौसा मनी जी सिंह के यहां रहकर पढ़ाई करने वाला अंकित सेक्टर चार डी ट्यूशन पढ़ने गया था. देर शाम तक वह नहीं लौटा तो परिजन इस बच्चे की तलाश में जुटे.

काफी खोजबीन के बाद भी जब कोई जानकारी नहीं मिली तो इसको लेकर सेक्टर चार थाने में सनहा दर्ज कराया गया.इसी दौरान 28 नवंबर को एक कॉल आया फोन करने वाले ने बीस लाख रुपये फिरौती की मांग की और पांच लाख में बात तय हुई.

बिहार के मसौढ़ी तरैना मंदिर के पास पांच लाख रुपये परिजन ले जाकर दिये भी. रुपये लेने के बाद भी बच्चे को मुक्त नहीं किया गया.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर : #ShramShakti अभियान के उद्घाटन में श्रमिकों को पगड़ी तो पहना दी, पर नहीं दिया गया रजिस्ट्रेशन कार्ड

हजारीबाग से बरामद हुआ था शव

मिली जानकारी के अनुसार मासूम अंकित का शव हजारीबाग के गोरहर में मिला था. बताया गया था कि फिरौती की रकम देने के बाद बच्चे का शव हजारीबाग जिले के गोरहर कलकतिया घाटी कशीयाडीह से बरामद हुआ. शव बुरी तरह से शव सड़ गया था.

मौके पर मिले जूते,कपड़े व स्कूल बैग से प्रारंभिक तौर पर शव की शिनाख्त परिजनों ने की थी. बाद में पुलिस ने डीएनए टेस्ट कराकर भी शव अंकित का होने की पुष्टि वैज्ञानिक तरीके से भी की थी.

इसे भी पढ़ें : #IPS नटराजन यौन शोषण मामला : याचिका वापस लेने के लिए सुषमा बड़ाईक को युवक ने धमकाया, पुलिस कर रही जांच

Ranchi Police 11/1/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like