Corona_UpdatesLead NewsNationalTOP SLIDER

बड़ी लापरवाही: बातों में मशगूल नर्सों ने महिला की दोनों बाजुओं पर लगाई वैक्सीन, बिगड़ी हालत

संबंधित स्टाफ से लिखित में मांगा गया है स्पष्टीकरण

New Delhi : पंजाब के पठानकोट में कोरोना टीकाकरण को लेकर बड़ी लापरवाही सामने आई है. बधानी सीएचसी में बीएससी नर्सिंग स्टाफ ने एक महिला की दोनों बाजू पर कोविड की वैक्सीन लगा दी. महिला की हालत बिगड़ने पर नर्सिंग स्टाफ को अपनी गलती का एहसास हुआ. इसके बाद महिला को 3 घंटे डॉक्टरों की निगरानी में रखने के बाद घर भेज दिया गया लेकिन अभी महिला के सिर में भारीपन है और घबराहट हो रही है.

परिवार का आरोप है कि वैक्सीनेशन के दौरान नर्सिंग स्टाफ बातों में मशगूल था. जबकि, अधिकारियों ने कहा कि ज्यादा भीड़ होने के कारण गलती हो गई. हालांकि, स्टाफ से लिखित में स्पष्टीकरण मांगा गया है.

इसे भी पढ़ेंः500 करोड़ रुपये से छह साल पहले बने चार इंजीनियरिंग कॉलेज, इस साल से एडमिशन के लिए तीन को ही मिली मान्यता

महिला को तीन घंटे तक निगरानी में रखा

बुंगल की रहने वाली 35 वर्षीय शिखा देवी वैक्सीन लगवाने कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर पहुंचीं, जहां कांट्रेक्ट पर रखी नर्सिंग स्टाफ ने उसकी दोनों बाजू पर कोविशील्ड की वैक्सीन लगा दी. वैक्सीन की दोनों डोज एक साथ लगने से महिला को घबराहट होने लगी.

advt

स्टाफ की इस लापरवाही का पता चलते ही सीएचसी बधानी की एसएमओ समेत स्टाफ में अफरा तफरी मच गई. सेहत अधिकारियों के ध्यान में तुरंत मामला लाने पर महिला को तीन घंटे तक निगरानी में रखा गया. दवा देकर महिला को घर भेजा गया.

इसे भी पढ़ेंःअतिक्रमण हटाओ अभियानः कांके डैम के किनारे बने घरों को तोड़ा गया

एक ने दायें तो दूसरी नर्स ने बायें बाजू में लगाई वैक्सीन

प्राइवेट स्कूल की बस चलाने वाले शिखा के पति अश्विनी ने बताया कि उसकी पत्नी सीएचसी बधानी में लगे वैक्सीनेशन कैंप में पहली डोज लगवाने गई थी. कैंप में कांट्रेक्ट पर रखा स्टाफ आपस में बातचीत करने में मग्न था.

इस कारण एक नर्स ने उसकी पत्नी की एक बाजू तो दूसरी नर्स ने दूसरी बाजू पर 5 से 7 सेकेंड के बीच ही कोविशील्ड की दोनों डोज लगा दी.

अश्विनी का कहना है कि उन्होंने इसका विरोध किया और इस लापरवाही को लेकर सीएचसी बधानी की एसएमओ से इस संबंधी शिकायत भी दी है.

इसे भी पढ़ेंःBIG NEWS : मीराबाई चानू को बनाया गया एडिशनल SP, जूडो खिलाड़ी सुशीला देवी बनीं SI

क्या कहा एसएमओ डॉ. सुनीता शर्मा ने

सीएचसी बधानी एसएमओ डा. सुनीता शर्मा का कहना है कि वैक्सीनेशन कैंप में लोगों की काफी भीड़ थी. इस कारण कांट्रेक्ट पर रखी बीएससी नर्सिंग स्टाफ को भीड़ में इसका पता नहीं चला और महिला को एक साथ दोनों डोज लग गई. उन्होंने महिला को निगरानी में रखा और उसके बाद घर भेजा.

इसे भी पढ़ें :कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्तः शीर्ष नेतृत्व ने लिया फीडबैक, आरपीएन सिंह आयेंगे रांची

लिखित स्पष्टीकरण मांगा गया

एसएमओ का कहना है कि तीन महीने बाद महिला का एंटी बायोटिक टेस्ट करवाएंगे. अगर जरूरत होगी तो फिर से वैक्सीन लगाएंगे, अन्यथा रिपोर्ट ठीक आने पर नहीं लगाई जाएगी. उनका कहना है कि बीएससी नर्सिंग स्टाफ की इस लापरवाही को लेकर लिखित स्पष्टीकरण मांगा गया है. वहीं, सिविल सर्जन डॉ. हरविंदर सिंह का कहना है कि मामला अभी उनके ध्यान में आया है. इस संबंधी जानकारी जुटाकर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

इसे भी पढ़ें :कोविड आपदा में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए स्ट्रैटेजी बनाने पर जोर देगी JSLPS

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: