Lead NewsSportsTOP SLIDER

BIG NEWS : मीराबाई चानू को बनाया गया एडिशनल SP, जूडो खिलाड़ी सुशीला देवी बनीं SI

मणिपुर सरकार की तरफ से एक करोड़ रुपये की राशि दी जाएगी

New Delhi : टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली मीराबाई चानू को मणिपुर सरकार ने एडिशनल एसपी नियुक्त किया है. मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने आज घोषणा की कि राज्य सरकार ने टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली मीराबाई चानू को मणिपुर पुलिस में एडिशनल एसी (स्पोर्ट्स) के पद पर तैनात करने का फैसला लिया है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा कि मीराबाई चानू को राज्य सरकार की तरफ से एक करोड़ रुपये की राशि दी जाएगी.

इसे भी पढ़ेंःJharkhand : कांग्रेस के रिमोट कंट्रोल पर चल रही है हेमंत सोरेन सरकार: बसपा

सुशीला देवी बनीं एसआई

इसके साथ ही मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा कि जूडो खिलाड़ी सुशीला देवी लिकमबम को उपनिरीक्षक एसआई के पद पर पदोन्नत किया गया है. बता दें कि वह पहले कॉन्सटेबल थीं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने एलान किया कि टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले राज्य के सभी एथलीट्स को 25-25 लाख रुपये पुरस्कार के तौर पर दिए जाएंगे.

advt

इसे भी पढ़ेंःअतिक्रमण हटाओ अभियानः कांके डैम के किनारे बने घरों को तोड़ा गया

मीराबाई को मिल सकता है गोल्ड

जानकारी के मुताबिक, वेटलिफ्टिंग इवेंट के 49 किलोग्राम भार वर्ग में सिल्वर मेडल जीतने वाली मीराबाई चानू को सिल्वर के बदले गोल्ड मेडल दिया जा सकता है. दरअसल, इस इवेंट की गोल्ड मेडल विजेता चीन की हो जजिहू का एक बार फिर डोप टेस्ट किया जाएगा. और अब अगर जजिहू इस डोप टेस्ट में फेल हो जाती हैं तो ऐसे में चानू का सिल्वर मेडल, गोल्ड में बदल सकता है.

adv

इसे भी पढ़ेंः500 करोड़ रुपये से छह साल पहले बने चार इंजीनियरिंग कॉलेज, इस साल से एडमिशन के लिए तीन को ही मिली मान्यता

भारत वापस लौटीं मीराबाई चानू

मीराबाई चानू जापान से आज दिल्ली वापस लौट आई हैं. वहीं चीन की जजिहू को ओलंपिक आयोजकों ने दोबारा डोप टेस्ट के लिए रुकने के निर्देश दिए हैं. इस डोप टेस्ट को लेकर फिलहाल कोई अधिक जानकारी सामने नहीं आई है. हालांकि सूत्रों के अनुसार ये डोप टेस्ट आज या कल किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें :Tokyo Olympics: मोमिजी निशिया ने रचा इतिहास, सबसे कम उम्र में जीता गोल्ड मेडल

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: