न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एशियन गेम्स : ‘सिल्वर’ जीत मधुमिता ने बढ़ाया झारखंड का मान, सरकार देगी 10 लाख

कंपाउंड टीम तीरंदाजी में रजत पदक जीत मधुमिता ने बढ़ाया झारखंड का मान, सरकार देगी 10 लाखबोकारो के घाटो की रहने वाली मधुमिता.

532

Jakarta/Ranchi: मंगलवार को 18 वें एशियाई खेल में झारखंड की मधुमिता ने कंपाउंड टीम तीरंदाजी में रजत पदक लाकर देश के साथ-साथ राज्य का नाम रोशन किया है. बोकारो के घाटो की रहने वाली मधुमिता की जीत पर सीएम रघुवर दास ने उन्हें बधाई दी है. पुरा मैच इतना रोमांचक था कि विजेता का फैसला आखिरी निशाने के बाद हुआ.

इसे भी पढ़ेंः दिखावे की “चकाचौंध” में राज्य को डूबा तो नहीं रही “सरकार” ?

10 लाख रुपए प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा

जकार्ता एशियाई खेलों में कंपाउंड टीम तीरंदाजी में रजत पदक जीतने पर झारखंड की रहने वाली मधुमिता को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 10 लाख रुपए प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की है. अपने संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड की बेटी मधुमिता को हार्दिक बधाई. एशियाई खेल 2018 में तीरंदाजी की महिला कंपाउंड टीम स्पर्धा में रजत पदक जीतकर आपने राज्य के युवाओं के लिए मिसाल पेश की है. आपकी इस उपलब्धि पर पूरे देश को गर्व है. दास ने कहा कि दुनिया भर में भारत का, तिरंगे का गौरव बढ़ाने के लिए झारखण्ड सरकार राज्य की बेटी मधुमिता को 10 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि देगी.
उन्होंने कहा कि आप झारखण्ड की बेटियों और युवाओं के लिए प्रेरणा बन गईं हैं. खूब मेहनत करें, राज्य का, देश का नाम रोशन करें. जकार्ता में भारतीय महिला तीरंदाजी टीम कंपाउंड टीम प्रतियोगिता में फाइनल में दक्षिण कोरिया से हार गई जिससे उसे रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा.

Related Posts

पार्किंग शुल्क कम नहीं होने पर नगर आयुक्त पर भड़कीं मेयर

20 सितंबर तक नया पार्किंग शुल्क लागू करने का निर्देश

इसे भी पढ़ें- सुषमा स्वराज ने कहा था इजरायल दौरे से रणधीर सिंह का नाम हटा किसानों को भेज दीजिए : डीएन चौधरी

कम्पाउंड तीरंदाजी में रजत पदक

भारतीय महिला कम्पाउंड तीरंदाजी टीम 18 वें एशियाई खेलों के फाइनल में आज दक्षिण कोरिया से हार गयी जिससे टीम को रजत पदक से संतोष करना पड़ा. मुस्कान किरार, मधुमिता कुमारी और ज्योति सुरेखा वेन्नाम की भारतीय टीम करीबी मुकाबले में कोरियाई टीम से 228-231 से हार गयी. मैच इतना रोमांचक था कि विजेता का फैसला आखिरी निशाने के बाद हुआ. भारतीय टीम पहले सेट में 59-57 से आगे चल रही थी लेकिन कोरिया ने दूसरे सेट को 58-56 से अपने नाम किया। तीसरे सेट में दोनों टीमें 58-58 की बराबरी पर रही.
तीन सेट के बाद दोनों टीमें बराबरी पर थी लेकिन अंतिम सेट में भारतीय निशानेबाज दबाव में आ गये जिसका फायदा कोरिया को मिला और उन्होंने सेट 58-55 से जीत कर स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: