JamshedpurJharkhandTOP SLIDER

महंगा पड़ा अर्णब का समर्थन, झारखंड में भाजपाइयों पर FIR

विज्ञापन
  • सरयू राय के दफ्तर में तोड़फोड़ के खिलाफ जुलूस निकालनेवाले भाजमो कार्यकर्ताओं पर भी FIR
  • कोविड-19 के नियमों की अवहेलना का आरोप

Jamshedpur : सड़क पर उतरकर अर्णब गोस्वामी का समर्थन करना भाजपाइयों को महंगा पड़ गया है. रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर पिछले दिनों भाजपाइयों ने जमशेदपुर के साकची स्थित पार्टी कार्यालय से साकची गोलचक्कर तक मशाल जुलूस निकाला था और महाराष्ट्र सरकार का पुतला दहन किया था. जिला प्रशासन की ओर से इसे कोविड-19 के नियमों की अवहेलना मानते हुए जमशेदपुर महानगर भाजपा अध्यक्ष गुंजन यादव और अन्य के खिलाफ साकची थाना में एफआईआर दर्ज करायी गयी है.

उधर, जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय के कार्यालय में बीते दिनों हुई तोड़फोड़ के मामले में भी भाजमो कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध में जुलूस निकाले जाने के मामले में भी जिला प्रशासन की ओर सिदगोड़ा थाना में भाजमो कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गयी है.

इसे भी पढ़ें :NEET 2020: 19 को जारी होगा फाइनल मेरिट लिस्ट, राज्य के 6 मेडिकल कॉलेजों की 680 सीटों पर होना है एडमिशन

भाजपाई बोले- विधायक सरयू राय पर भी FIR करें उपायुक्त

प्रशासन द्वारा एफआईआर दर्ज कराये जाने को लेकर भाजपाइयों का एक प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को जमशेदपुर जिला मुख्यालय पहुंचा. प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि भाजमो के जुलूस में विधायक सरयू राय भी शामिल थे. प्रतिनिधिमंडल ने उपायुक्त से विधायक सरयू राय के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने की मांग की. इस संबंध में प्रतिनिधिमंडल ने एक मांगपत्र भी उपायुक्त के नाम सौंपा है.

सौंपे गये मांग पत्र में भाजपाइयों ने जिला प्रशासन से आम और खास के लिए अलग-अलग कानून लागू किये जाने के मामले पर सवाल उठाया है. इस दौरान काफी संख्या में भाजपाई मौजूद रहे.

इसे भी पढ़ें :शराबबंदी में ढील दीजिए नीतीश जी, झारखंड के भाजपा सांसद ने की अपील

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: