NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आमया ने न्याय सभा में कहा, राज्य में अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है  

294

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

steel 300×800

Ranchi : राज्य में लगातार घट रही साम्प्रदायिक हिंसा की घटनाओं के विरोध में आमया, ऑल मुस्लिम यूथ एसोसिएशन की ओर से राजभवन के समक्ष न्याय सभा का आयोजन किया गया. न्याय सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने राज्य में आदिवासी और अल्पसंख्यक वर्ग को साम्प्रदायिक हिंसा का निशाना बनाये जाने का विरोध किया.

रांची  सहित राज्य भर में घटित घटनाओं में शामिल दोषियों की गिरफ्तारी की मांग सरकार से की गयी. इस अवसर पर आमया अध्यक्ष शमीम अली की अगुवाई में एक प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल को एक ज्ञापन  सौंपा.

राजनीति के लिए साम्प्रदायिक हिंसा का माहौल बनाया जा रहा है राज्य में

आमया के केन्द्रीय अध्यक्ष एस अली ने न्याय सभा को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में  हिन्दू-मुस्लिम और आदिवासी एकता को तोड़ने और झारखंड को बदनाम करने की नीयत से ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है. वोट की घृणित राजनीति भी इसमें शामिल है.

क्या वजह है कि एक पार्टी विशेष के कार्यकताओं के द्वारा प्रशासन की अनुमति के बिना ईद के समय रांची के मेन रोड में रैली निकाली गयी,  जिसमें लगाये गये उन्मादी नारों ने विवाद का रूप ले लिया. उसी रात दलादली नगड़ी में मस्जिद के इमाम के साथ मारपीट की गयी.  नगड़ी के देवड़ी मंदिर में प्रतिबंधित जानवर का सूखा सर फेंक कर तनाव पैदा किया गया.

pandiji_add

इटकी में निर्दोषों पर मनगढंत आरोप लगाकर एफआईआर किया गया

बाजार में समुदाय विशेष के एक व्यक्ति के साथ मारपीट की गयी. उन्होंने आरेाप लगाया कि जब नाकाम रहे, तो हुरहूरी मस्जिद रातू में गंदा जानवर फेंक माहौल खराब करने को कोशिश भी हुई. नगड़ी में बाहर से आये युवकों द्वारा की गयी पत्थरबाजी भी साम्प्रदायिक हिंसा ही थी. कहा कि इटकी में निर्दोषों पर मनगढंत आरोप लगाकर एफआईआर किया गया.

रातू रोड ग्लैक्सिया मॉल के सामने एक मौलाना के साथ मारपीट की गयी. बेड़ो में दुकानों में लूटपाट, दुकान को जला देना, चकमे बुढ़मू घटना के दोषियों की गिरफ्तारी न होना, रामगढ़ में प्रतिबंधित  मांस ले जाने के शक में तौहीद अंसारी की हत्या, गोड्डा में पशु चोरी के आरोप में मुर्तजा और चरकू नामक दो नवयुवकों को पीट-पीट कर मार डालने की घटना, गिरिडीह में बैटरी चोरी के नाम पर एक व्यक्ति की हत्या जैसी घटनाएं सिलसिलेवार घट रही हैं.

दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करने के बजाय पुलिस कई मामलों में घटना की सच्चाई छुपाने का प्रयास करती है, कई मामलों में निर्दोषों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया लेकिन कुसूरवार दोषी खुलआम घूम रहे हैं.  न्याय सभा में जय आदिवासी युवा शक्ति के झारखंड प्रभारी संजय पाहन ने कहा कि राज्य की खनिज सम्पदा की लूट और राजनीति में अपना प्रभाव बनाने के लिए बाहरी लोग हिन्दू मुस्लिम लड़ाई करवा रहे हैं. मानवाधिकार के माखन पाठक ने कहा कि देश का विकास हिन्दू मुस्लिम से अलग होकर नहीं हो सकता, बल्कि साथ चलकर  ही हो सकता है.

न्याय सभा में रंजीत उरांव, सुधीर मिश्रा, आजम अहमद, तनवीर आलम, रहमतुल्लाह अंसारी, मो फुरकान, जियाउद्दीन अंसारी,  इमरान अंसारी, लतीफ आलाम, नौशाद आलम, मो शाहिद, इकराम हुसैन, मियांजान अंसारी, मोहीउद्दीन अंसारी, अनीसुर रहमान, शाद जुहैब, अफताब आलाम, एकबाल खान, परवेज आलम, इस्मे आज़म, अबरार अहमद आदि सैकड़ों की संख्या में लोग शामिल थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.  

Hair_club

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.