न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड को नक्‍सल मुक्‍त बनाने के लिए 200 नक्‍सलियों की सूची तैयार, 1 करोड़ तक इनाम

170

Ranchi: झारखंड को नक्सल मुक्त बनाने के लिए सरकार ने 200 से ज्यादा नक्सलियों की सूची तैयार की है. इन मोस्‍ट वांटेड नक्सलियों के पर एक लाख से लेकर एक करोड़ तक के इनाम की घोषणा की है. प्रस्ताव को राज्य सरकार ने अपनी मंजूरी दे दी है. नई आत्मसमर्पण नीति लागू होने के बाद फरार नक्सलियों पर इनाम घोषित करने का प्रस्ताव विशेष शाखा ने तैयार किया था.

इनमें है एक करोड़ का इनाम

जिन नक्सलियों पर पहले से इनाम घोषित थे, उनमें से कई नक्सलियों के खिलाफ इनाम का नवीकरण भी किया गया है. 200 नक्सलियों में भाकपा माओवादियों के पोलित ब्यूरो सदस्य प्रशांत बोस उर्फ किशन दा और मिसिर बेसरा उर्फ भास्कर पर एक करोड़ इनाम घोषित किये गये हैं. कोल्हान इलाके में वर्तमान में सक्रिय असीम मंडल उर्फ आकाश पर पूर्व में एक करोड़ का इनाम थे.

hosp1

इसे भी पढ़ें – News Wing Breaking: झारखंड कैडर के IFS अफसरों ने PRESIDENT से लगाई गुहार, कहा – सरकार की मंशा…

खूंटी एसपी ने भी किये नक्सलियों व उग्रवादियों पर इनाम घोषित

खूंटी को नक्सल मुक्त बनाने के लिए एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने 28 नक्सलियों और उग्रवादियों की सूची तैयार की है. इन 28 नक्सलियों और उग्रवादियों को गिरफ्तार करने या मुठभेड़ में मार गिराने का आदेश जारी किया गया है. वहीं हार्डकोर नक्सली के लिए इनाम की घोषणा की गई है. नक्सलियों के पोस्टर चिपकाकर पुलिस ने नक्सलियों तक पहुंचने की रणनीति बनाई है. प्रत्येक नक्सली के ऊपर 15-15 लाख रुपये का इनाम भी रखा गया है.

खूंटी पुलिस ने भाकपा माओवादी के जीवन कंदुलेना, महाराज प्रमाणिक, बॉयदा पहान, जीतराय मुंडा, विमल लोहरा, प्रदीप स्वांसी, प्रभात मुंडा, बच्चन मुंडा, बुधराम मुंडा, पीएलएफआई उग्रवादी जीवन गुड़िया, दिनेश गोप, तिलकेश्वर गोप, गुज्जू गोप ,मंगरा लुगुन, शनिचर सुरीन, प्रभु सहाय, बागराय चंपिया, अखिलेश्वर गोप, अजय पूर्ति ,हरिहर महतो, दित नाग, नावेल संडी, बीजू मुंडा और सोनू मुंडा के ऊपर इनाम घोषित किया गया है.

इसे भी पढ़ें – राज्य प्रशासनिक सेवा के 700 अफसर नहीं बन  पाये स्पेशल सेक्रेटरी, 60 साल की नौकरी, सिर्फ तीन प्रमोशन

राज्य भर के इनामी नक्‍सली व उग्रवादी

25 लाख के इनामी: भाकपा माओवादी सैक सदस्य असीम मंडल, चमन उर्फ लंबू, पतिराम मांझी उर्फ अनल दा, साकेत उर्फ बिरसायी(अब सरेंडर), लालचंद्र हेंब्रम उर्फ अनमोल, रघुनाथ हेंब्रम उर्फ निर्भय जी, अजीत उरांव उर्फ चार्लिस, संदीप यादव, अजय महतो उर्फ टाइगर, पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप.

15 लाख के इनामी: माओवादी रीजनल कमेट मेंबर संजय महतो, बुद्धेश्वर उरांव, सर्वजीत यादव उर्फ नवीन, छोटू खेरवार उर्फ छोटे सिंह, रमेश गंझू, कुंबा मुर्मू उर्फ मेहनत उर्फ मोछू, कृष्णा हांसदा उर्फ अविनाश, पिंटू राणा उर्फ राजेश, विनय यादव उर्फ मुराद, रामप्रसाद मार्डी,बेला सरकार, पीएलएफआई का मार्टिन केरकेट्टा, टीपीसी का आक्रमण गंझू उर्फ रवींद्र.

10 लाख के इनामी: जोनल कमेटी मेंबर कुंदन यादव, सुरेश सिंह मुंडा, परमजीत उर्फ सोनू, रामदयाल महतो उर्फ बच्चन, मृत्युंजय जी बलराम उरांव, रवींद्र गंझू, सहदेव उर्फ ताला, कंचन तुरी दीपक यादव, विवेक यादव, छोटेलाल यादव बीरबल यादव उर्फ कलिका जी, मुनेश्वर गंझू, अमित मुंडा, महराज प्रमाणिक, जीवन कंडुलना, सुधीर किस्कू, अरविंद भूईंया, नितेश यादव, मनोहर गंझू, प्रशांत मांझी उर्फ छोटका, भूषण यादव, नीरज सिंह खेरवार, साहेबराम मांझी, संतोष यादव, पीएलएफआई उग्रवादी तिलकेश्वर गोप, गज्जू गोप, भीखन गंझू, आरिफ जी उर्फ शशिकांत, जेजेएमपी का पप्पू लोहरा.

5 लाख के इनामी: भाकपा माओवादी सब जोनल कमांडर नुनूचंद महतो, रंथू उरांव, शीतल मोची, चंद्रभान पाहन, रामप्रसाद यादव, मुखदेव यादव, अभिजीत यादव, अघून गंझू, उमेश्वर यादव, गुलशन सिंह मुंडा, प्रदीप सिंह खेरवार, प्रदीप स्वांसी, जयंती उर्फ रेखा, रोहन गंझू, प्रभात मुंडा सहदेव यादव, गोदराय यादव, विनोद दास, ननकुरिया उर्फ नंदकिशोर, सीताराम रजवार, चंदन सिंह खेरवार, बोयदा पाहन, जीतराय मुंडा, दशरथ उरांव, गोपाल गंझू, रवींद्र देहरी, नंदकिशोर भूईंया, शिवपूजन यादव, बीरबल उरांव, जगेश्वर पाल, बूढ़ा ब्यास, सीता भूईंया, जेजेएमपी का रवींद्र यादव, गुड्डन सिंह, लवलेश गंझू, टीपीसी के सौरभ गंझू, अजय यादव, महेंद्र सिंह खेरवार.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: