JharkhandKhas-KhabarRanchi

राज्य प्रशासनिक सेवा के 700 अफसर नहीं बन पाये स्पेशल सेक्रेटरी, 30 साल की नौकरी, सिर्फ तीन प्रमोशन

Ravi Aditya

Ranchi: राज्य प्रशासनिक सेवा का भी कैडर मैनेजमेंट चरमराया हुआ है.  राज्य गठन के बाद  से अब तक 700 से अधिक राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसर एडिशनल और स्पेशल सेक्रेटरी नहीं बन पाये. 30 साल तक की नौकरी में बमुश्किल से सिर्फ तीन प्रमोशन ही मिल पाता है. झारखंड में ज्वाइंट सेक्रेटरी के 120, एडिशनल सेक्रेटरी के 15 और स्पेशल सेक्रेटरी के 10 पद हैं. अब तक 700 से अधिक अफसर ज्वाइंट सेक्रेटरी के पद तक पहुंचते-पहुंचते रिटायर हो गये.  राज्य प्रशासनिक सेवा के लगभग 1300 पद स्वीकृत हैं.

इसे भी पढ़ें – कुछ लोगों की मौजूदगी सीएम को है नापसंद, शक्ल देखते ही उलटे पांव मंच से लौटे

यहां पर भी है विरोधाभास की स्थिति

राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों को अगर आईएएस संवर्ग में प्रोन्नति पानी है तो उनकी उम्र जनवरी 2017 तक 56 साल होनी चाहिये. वहीं आईएएस संवर्ग में स्पेशल सेक्रेटरी का ग्रेड पे 8700 रुपये है. जबकि राज्य सेवा से स्पेशल सेक्रेटरी में प्रोन्नति पाने पर ग्रे पे 8900 रुपये मिलता है. वहीं सचिव रैंक का ग्रेड पे 10000 रुपये है. वहीं विशेष सचिव बनने के लिये अफसरों को पांच पड़ाव पार करना पड़ता है. वहीं आईएएस संवर्ग में भी प्रोन्नति पाने के बाद भी स्पेशल सेक्रेटरी का रैंक नहीं मिल पाता है.

इसे भी पढ़ें – डीजीपी डीके पांडेय ने डेढ़ साल पहले टीपीसी की वसूली रोकने के लिए नहीं की कार्रवाई !

ऐसा है प्रोन्नति का पद सोपान

डिप्टीकलक्टर,
एसडीओ
एजिशनल कलक्टर या डिप्टी सेक्रेटरी
एडिशनल सेक्रेटरी
स्पेशल सेक्रेटरी

सचिवालय सेवा का भी यही हाल

सचिवालय सेवा के अफसरों का यही हाल है. सचिवालय सेवा के लिये 2300 पद सृजित हैं. इसमें सहायक प्रशाखा पदाधिकारी, प्रशाखा पदाधिकारी, अवर सचिव, उपसचिव और संयुक्त सचिव के पद हैं. इसमें से अधिकांश अफसर अवर सचिव पहुंचते-पहुंचते ही रिटायर हो जाते हैं. अब तक 1700 अफसर अवर सचिव के पद तक पहुंचते-पहुंचते रिटायर हो गये.

इसे भी पढ़ें – धनबाद: या देवी सर्वभूतेषु राजनीति रूपेण संस्थिता…

Related Articles

Back to top button