न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

News Wing Breaking: झारखंड कैडर के IFS अफसरों ने PRESIDENT से लगाई गुहार, कहा – सरकार की मंशा ठीक नहीं

सर्विस कंडीशन खराब, केंद्रीय  प्रतिनियुक्ति में जाने से रोका जा रहा है, आईपीएस हो गये आगे, आईएफएस पीछे 

2,891

Ravi Aditya

eidbanner

Ranchi: अब झारखंड कैडर के आईएफएस (भारतीय वन सेवा) अफसर ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. अफसरों ने अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से गुहार लगाई है. राष्ट्रपति को पत्र लिखकर कहा है कि झारखंड में सर्विस कंडिशन काफी खराब है. अफसरों को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति में जाने से रोका जा रहा है. केंद्रीय प्रतिनियुक्ति के 17 पद हैं, जिसमें पांच अफसर ही तैनात हैं. राज्य सरकार केंद्रीय प्रतिनियुक्ति में जाने की भी मंजूरी नहीं दे रही है. राज्य सरकार को कई बार अवगत कराया गया, लेकिन राज्य सरकार सुनती नहीं है. इसलिये आपसे मदद की अपेक्षा है.

इसे भी पढ़ें – डीजीपी डीके पांडेय ने डेढ़ साल पहले टीपीसी की वसूली रोकने के लिए नहीं की कार्रवाई !

सभी का प्रमोशन हो गया है बाधित

अफसरों ने राष्ट्रपति को यह भी लिखा है कि झारखंड कैडर के आईएफएस अफसरों का प्रमोशन भी बाधित हो गया है. जबकि साथ बैच के आईपीएस अफसर आईएफएस से प्रमोशन के मामले में आगे निकल गये हैं. प्रमोशन के नाम पर सिर्फ कागजी कार्रवाई ही होती है. इसमें मदद की जरूरत है. आईएफएस अफसरों का कैडर मैनेजमेंट चरमराया हुआ है.

इसे भी पढ़ें – देवघर भूमि घोटाला: दो तरफा घिर सकते हैं वरीय IAS अफसर, चलेगी डिपार्टमेंटल प्रोसीडिंग, सीओ सिद्धार्थ चौधरी सस्पेंड

राज्य सरकार को भी आईएफएस अफसरों पर भरोसा नहीं

इधर राज्य सरकार को भी आईएफएस अफसरों पर भरोसा नहीं है. झारखंड में आईएफएस के राज्य प्रतिनियुक्ति के 25 फीसदी पद हैं. इस हिसाब से 21 अफसरों का राज्य प्रतिनियुक्ति में रहना जरूरी है. वहीं आईएफएस के पदस्थापना के लिये पदों को भी चिन्हित नहीं किया गया है. सरकार के पास इसका कोई स्पष्ट जवाब भी नहीं है. पीसीसीएफ रैंक के अफसरों को भी विशेष सचिव रैंक का पद मिलता है.

इसे भी पढ़ें – राज्य में आईएएस अफसरों का टोटा, पहले से 43 कम, 2019 तक रिटायर हो जायेंगे 27 और अफसर

सिर्फ छह अफसर हैं राज्य प्रतिनियुक्ति में

राज्य प्रतिनियुक्ति में सिर्फ छह आईएफएस ही कार्यरत  हैं. इसमें पीसीसीएफ रैंक के अफसर एके रस्तोगी वन विभाग में विशेष सचिव, अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक रैंक के अफसर सर्वेश सिंघल आईटी में विशेष सचिव, सीसीएफ रैंक के अफसर डीके सक्सेना महिला बाल विकास विभाग में विशेष सचिव, सीसीएफ रैंक के अफसर परितोष उपाध्याय ग्रामीण विकास में विशेष सचिव, सीसीएफ रैंक के अफसर रवि रंजन स्कील डेवलपमेंट में सीईओ और सीएफ रैंक के अफसर सिर्द्धाथ त्रिपाठी मनरेगा आयुक्त के पद पर राज्य प्रतिनियुक्ति में हैं.

इसे भी पढ़ें – कुछ लोगों की मौजूदगी सीएम को है नापसंद, शक्ल देखते ही उलटे पांव मंच से लौटे

राज्य प्रतिनियुक्ति में आईएफएस को मिलता है विशेष सचिव का रैंक

Related Posts

NewsWing Impact : ऐतवारी के चेहरे पर छलकी मुस्कान, पेंशन बनी, राशन बाकी

newswing.com पर खबर आने के बाद अधिकारी ने लिया संज्ञान, वृद्धा की सुध ली

mi banner add

झारखंड में राज्य प्रतिनियुक्ति में आईएफएस को विशेष सचिव का ही रैंक मिलता है. जबकि कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश सहित अन्य कई राज्यों में आईएफएस को सचिव का पद मिला हुआ है.


इसे भी पढ़ें – राज्य प्रशासनिक सेवा के 700 अफसर नहीं बन  पाये स्पेशल सेक्रेटरी, 60 साल की नौकरी, सिर्फ तीन प्रमोशन

कौन पद किसके बराबर का है
आईएएस           आईएफएस

सचिव                मुख्य वन संरक्षक

प्रधान सचिव      अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक

मुख्य सचिव       प्रधान मुख्य वन संरक्षक

इसे भी पढ़ें – मेरी भाषणों से कट जाते हैं कांग्रेस के वोट, इसलिए मैं रैलियों में नहीं जाता : दिग्विजय सिंह

ऐसी है राज्य में आईएफएस की संरचना

वरिष्ठ ड्यूटी पोस्ट- 87

राज्य प्रतिनियुक्ति-21

केंद्रीय प्रतिनियुक्ति -17















  





 




 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: