न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

देश के 20% सबसे गरीब परिवार न्याय योजना से होंगे लाभान्वित : डॉ अजय कुमार

1,298

Ranchi:   कांग्रेस पार्टी की न्याय न्यूनतम योजना पर बीजेपी के सवाल उठाये जाने पर पलटवार करते हुए झारखंड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने कहा है कि कभी बीजेपी वाले मनरेगा योजना पर भी सवाल खड़ा करते थे. लेकिन आज योजना की सफलता से देश की जनता वाकिफ है.

“गरीबी पर वार, 72,000” पार्टी की पहली गारंटी बताते हुए डॉ अजय कुमार ने कहा कि योजना से देश के 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों के खाते में कांग्रेस नीत यूपीए सरकार हर साल डायरेक्ट पैसा डालेगी. एक साल में 72,000, पांच साल में 3,60,000 की राशि योजना के तहत तय की गयी है.

योजना से जनता को दो फायदें होंगे. एक, गरीबों की जेब में पैसा जाएगा. दूसरा, किसानों की जेब में डायरेक्ट पैसा जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः Cyclone Fani के अगले 24 घंटे में गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका

पीएम मोदी के जुमलों जैसी नहीं है न्याय योजना

पार्टी मुख्यालय में रविवार को आयोजित एक प्रेस वार्ता में उन्होंने न्याय योजना को लाने के पीछे की मंशा भी जाहिर की. उन्होंने कहा कि योजना को लागू करने के लिए पिछले एक वर्षों से पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी काम कर रहे थे.

इसमें हमने पूरे देश के गरीब लोगों को शामिल करने का प्रयास किया है. उक्त योजना बीजेपी पीएम नरेंद्र मोदी के जुमलों जैसी नहीं है कि सत्ता में आने पर सरकार हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख रूपये जमा करेगी.

कालाधन वापस आयेगा. 2 करोड़ रोजगार उत्पन्न किये जायेंगे.

इसे भी पढ़ेंः हेमंत करकरे की बेटी ने कहा, पिता कहते थे, आतंकवाद का कोई धर्म नहीं , कोई भी धर्म हत्या करना नहीं सिखाता

राज्य के 9.70 लाख परिवार होगें लाभान्वित

योजना से झाऱखंड को होने वाले फायदे पर डॉ अजय कुमार ने कहा कि पार्टी द्वारा किये एक सर्वे में पाया कि पूरे राज्य में 9.70 लाख परिवार न्याय योजना के हकदार होंगे. अर्थात 58.20 लाख लोगों को इसका लाभ मिलेगा.

राहुल गांधी ने स्वयं इन सभी परिवारों को पत्र लिखकर न्याय योजना की जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि योजना से राज्य में 582 करोड़ रूपये प्रतिमाह आयेंगे और एक  वर्ष में 6984 करोड़ रूपये आयेंगे.

जाहिर है कि इससे यहां के सिर्फ लाभुक परिवारों को ही फायदा नहीं होगा बल्कि झारखंड में व्यवसाय करने वाले, रिक्शा चलाने वाले, ठेला चलाने वाले, पंक्चर बनाने वाले, साईकिल, मोटरसाईकिल बनाने वाले लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी.

उन्होंने दावा किया कि योजना से पूरे राज्य की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी और सर्वांगीण विकास होगा.

इसे भी पढ़ेंः  माजिद मेमन की जिन्ना विवाद में इंट्री, कहा- देश की आजादी में जिन्ना का बड़ा योगदान, मुस्लिम हैं इसलिए हो रहा हमला 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: