न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 माजिद मेमन की जिन्ना विवाद में इंट्री, कहा- देश की आजादी में जिन्ना का बड़ा योगदान, मुस्लिम हैं इसलिए हो रहा हमला 

जिन्ना का देश के स्वतंत्रता संग्राम को लेकर बड़ा योगदान रहा है.  सिर्फ जिन्ना मुस्लिम थे इसलिए आप उन्हें निशाना बना रहे हैं और शत्रुघ्न सिन्हा को राष्ट्र विरोधी कह रहे हैं.

46

NewDelhi :  लोकसभा चुनाव 2019 की जंग में अब मोहम्मद अली जिन्ना की इंट्री भी चुकी है.  शनिवार, 27 अप्रैल को शत्रुघ्न सिन्हा की जुबान फिसली और गलती से उन्होंने कांग्रेस को जिन्ना की पार्टी बताते हुए गांधी-सरदार के साथ खड़ा कर दिया. इसके बाद से भाजपा कांग्रेस पर हमलावर हो गयी है. इस विवाद में अब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) नेता माजिद मेमन भी कूद गये हैं.

माजिद मेमन ने जिन्ना पर बयान देकर इस मसले को और तूल दे दिया है. बता दें कि मेमन ने इसे मुस्लिम संप्रदाय से जोड़ते हुए नया बयान दे डाला.  उन्होंने कहा, जिन्ना का देश के स्वतंत्रता संग्राम को लेकर बड़ा योगदान रहा है.  सिर्फ जिन्ना मुस्लिम थे इसलिए आप उन्हें निशाना बना रहे हैं और शत्रुघ्न सिन्हा को राष्ट्र विरोधी कह रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – 200 बड़ी अमेरिकी कंपनियां चीन को छोड़ भारत आने की तैयारी में  : अमेरिकी सलाहकार समूह

नीयत तो साफ थी, जुबान फिसलने से गलती हो गयी

Related Posts

जमानत के विरोध पर  #CBI पर पी चिदंबरम का तंज, मैं उड़कर चांद पर चला जाऊंगा, होगी मेरी सेफ लैंडिंग

ट्वीट में  बिना नाम लिये चांद, चंद्रयान 2 का जिक्र करते हुए सीबीआई पर निशाना साधा  गया है.

अमित शाह को यह नोट कर लेना चाहिए कुछ दिनों पहले तक शत्रुघ्न सिन्हा उन्हीं के साथ थे, अगर वे कुछ भी राष्ट्र विरोधी बात बोल रहे हैं तो ये भाजपा का ही सिखाया हुआ है.  छिंदवाड़ा में जनसभा के दौरान सामने आये सिन्हा के बयान को निशाने पर लेते हुए अमित शाह ने कहा, शत्रुघ्न सिन्हा को कांग्रेस में गये ज्यादा दिन नहीं हुए और वो कहने लगे कि जिन्ना भी महात्मा गांधी और सरदार पटेल की तरह एक महान व्यक्ति था.

कांग्रेस के नेता अब उस जिन्ना की तारीफ कर रहे हैं, जिसने देश के टुकड़े करवा दिये. यह उनका चरित्र है. जान लें कि जिन्ना पर दिये अपने बयान के बाद सफाई देते हुए शत्रुघ्न ने कहा था कि उनकी नीयत तो साफ थी, जुबान फिसलने से गलती हो गयी.  उन्होंने बताया कि वे मौलाना आजाद का नाम लेना चाहते थे लेकिन गलती से जिन्ना बोल गये.

इसे भी पढ़ें –  EVM वहीं खराब होती है जहां दलित-अल्पसंख्यक वोट हैं : सिब्बल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: