Lead NewsMain SliderNationalNEWS

एयर इंडिया के महिला पायलटों ने रचा इतिहास, पुरुष पायलट के बगैर भरी 16,000 किमी की सीधी उड़ान

मुश्किल समझे जाने वाले उत्तरी ध्रुव के ऊपर उड़ाया विमान, सैन फ्रांसिस्को से भरी थी उड़ान

 Bangalore : एयर इंडिया के चार महिला पायलट ने इतिहास रच दिया. पुरुष पायलट के बगैर एयर इंडिया की सबसे लंबी सीधी रूट पर उड़ान भरते हुए सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु पहुंची. करीब 16,000 किमी की उड़ान उत्तरी ध्रुव के ऊपर से भरी गई. उत्तरी ध्रुव के ऊपर उड़ान भरना मुश्किल माना जाता है. इस रूट पर विमानन कंपनियां अपने सबसे अनुभवी पायलटों को ही इस रूट पर भेजती हैं.

 

 

advt

विमान के चालक दल में कैप्टन जोया अग्रवाल, कैप्टन पापागरी तनमई, कैप्टन आकांक्षा सोनवरे और कैप्टन शिवानी मन्हास आदि शामिल थी. कैप्टन जोया अग्रवाल ने कहा, आज, हमने न केवल उत्तरी ध्रुव पर उड़ान भरकर, बल्कि सभी महिला पायलटों के साथ उड़ान भरके इतिहास का निर्माण किया. हम इसका हिस्सा बनकर बेहद खुश और गर्व महसूस कर रहे हैं. इस मार्ग से 10 टन ईंधन की बचत हुई है.  कैप्टन शिवानी मन्हास ने कहा, ‘यह एक रोमांचक अनुभव था क्योंकि यह पहले कभी नहीं किया गया था। यहां तक पहुंचने में लगभग 17 घंटे लग गए.’

 

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट किया, कॉकपिट में पेशेवर, योग्य और आत्मविश्वासी महिला चालक दल ने एयर इंडिया के विमान से सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु के लिए उड़ान भरी है और वे उत्तरी ध्रुव से गुजरेंगी. हमारी नारी शक्ति ने एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है. बता दें कि यह संयुक्त राज्य अमेरिका और दक्षिणी भारत के पश्चिमी तट के बीच पहली सीधी नॉन-स्टॉप उड़ान थी.

इसे भी पढ़ेंःकृषि कानूनों व किसानों के प्रदर्शन पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: