JharkhandKhas-KhabarMain SliderRanchi

क्या डीजीपी डीके पांडेय भी हटाए जाएंगे !

विज्ञापन

Saurav singh

Ranchi : लोकसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग ऐसे अधिकारियों पर लगातार कार्यवाही कर रही है, जिनके ऊपर किसी भी दल को लाभ पहुंचाने का आरोप है या वह अपने पद पर एक ही जगह पिछले 3 वर्षों से ज्यादा समय से पदस्थापित हैं.

advt

क्या ऐसे में भी झारखंड के डीजीपी डीके पांडेय पर भी चुनाव आयोग कोई कार्रवाई करेगी? डीजीपी डीके पांडेय पिछले 4 वर्षों से झारखंड के डीजीपी के पद पर पदस्थापित हैं और इनके ऊपर भी भाजपा के पक्ष में बोलने का आरोप लग चुका है.

विपक्षी नेताओं को डीजीपी डीके पांडेय के कामकाज के तरीकों पर भी आपत्ति है. आरोप है कि वह अपनी गतिविधियों से जो संदेश देते हैं, उससे सत्ताधारी दल की सोंच और एजेंडे को बढ़ावा मिलता है. मसलन गेरुआ वस्त्र पहनना, सरकारी नारे लगाना, सांप को गले में लपेटने  जैसे काम करना.

adv

इसे भी पढ़ें – डीजीपी डीके पांडेय ने सांप के साथ कहां खिंचवाई तस्वीर, वन विभाग ने दिया पता करने का आदेश

कांग्रेस और झामुमो ने निर्वाचन आयोग से की है शिकायत

कांग्रेस और झामुमो ने झारखंड निर्वाचन आयोग से एडीजी अनुराग गुप्ता और डीजीपी डीके पांडेय को हटाने की मांग की है. दोनों पार्टियों ने निर्वाचन आयोग से शिकायत की है कि डीजीपी डीके पांडेय और एडीजी स्पेशल ब्रांच दोनों भाजपा को मदद पहुंचाने का काम कर रहे हैं.

01 अप्रैल को निर्वाचन आयोग ने कार्रवाई करते हुए एडीजी स्पेशल ब्रांच अनुराग गुप्ता को हटा दिया. ऐसे में अब यह चर्चा भी शुरु हो गयी है कि जल्द ही डीजीपी डीके पांडेय भी हटाए जाएंगे.

इसे भी पढ़ें – भाजपा प्रवक्ता की तरह बात करके डीजीपी हो गये ट्रोल

कई बार विवादों में आ चुके हैं डीजीपी डीके पांडेय:-

–              05 जुलाई 2018 डीजीपी डीके पांडेय, रांची में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सभागार में विपक्ष के झारखंड बंद से पहले पुलिस की तैयारियों को लेकर मीडिया से बातचीत कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने यह नारा लगाया थाः सबका साथ सबका विकास यही है रघुवर सरकार.

–                14 फरवरी 2018 को सोशल मीडिया पर डीजीपी डीके पांडेय की दो तस्वीरें वायरल हो हुई थीं. जिसमें वह अपने गले में सांप लपेटे हुए हैं. तस्वीर चतरा के ईटखोरी मंदिर के सामने की थी. पूजा कर जैसे ही वो ईटखोरी मंदिर के बाहर निकले, उनकी नजर वहां एक सपेरे पर पड़ी. सपेरे के पास कई तरह के सांप थे.

पुलिस विभाग के सबसे आला अधिकारी होने के नाते जो कार्रवाई कानून तोड़ने वाले सपेरे के साथ डीजीपी डीके पांडेय को करनी थी, वो कार्रवाई ना करते हुए वो खुद सपेरे के पास जाकर जमीन पर बैठ गये. सपेरे से एक कोबरा सांप लेकर उन्होंने अपने गले में लपेट लिया. कुछ मिनटों तक वो सांप से खेलते रहे. तस्वीरें खिंचवाते रहे.

–              13 अक्टूबर 2018 को झारखंड के डीजीपी डी‍के पांडेय अपने पूरे परिवार के साथ शनिवार को शक्ति पीठ रजरप्पा मंदिर पहुंचे. वहां मां छिन्नरमस्तिके की पूजा-अर्चना की. रजरप्पा में डीजीपी पूरे नवरात्र के रंग में रंगे दिखे. गेरुआ कपड़े में पूजा-अर्चना करने के बाद डीजीपी भक्तों के साथ झाल लेकर बैठ गये और भक्तों के साथ भक्ति गीतों पर झाल बजाया.

–              इसके अलावा डीजीपी गेरुआ वस्त्र पहनकर कई बार दुर्गा पूजा में घूमते हुए भी दिखे हैं. जवानों के बीच भी रघुवर सरकार के पक्ष में नारे लगाते देखे गये हैं.

इसे भी पढ़ें – माता की शरण में डीजीपी, मां भद्रकाली मंदिर में पत्नी के साथ की पूजा

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close