Crime NewsDhanbadJharkhand

आखिर क्यों नशे का इंजेक्शन लगाकर युवक को 6 सालों से बना रखा था बंधक !

Dhanbad: धनबाद के बरवाअड्डा थाना क्षेत्र के काशीटांड के रहने वाले अब्दुल सत्तार पिछले 6 साल से लापता थे. परिवार वालों ने उनको खोजने का काफी प्रयास किया, लेकिन हर कोशिश नाकाम साबित हुई. इसके बाद परिजनों ने बरवाअड्डा थाने में अब्दुल की गुमशुदगी दर्ज कराई. हारकर परिवार वालों ने अब्दुल सत्तार के घर लौटने की उम्मीद ही छोड़ दी.

इसे भी पढ़ेंःADG डुंगडुंग उतरे SP महथा के बचाव में, DGP को पत्र लिख कहा वायरल सीडी से पुलिस की हो रही बदनामी, करायें जांच

क्या है पूरा मामला

बरवाअड्डा थाना क्षेत्र के कासियातांड के रहने वाले अब्दुल सत्तार छह साल पहले लापता हुए थे. जिसे लेकर पुलिस में गुमसुदगी का केस भी दर्ज किया गया. लेकिने कुछ अता-पता नहीं चला. इस बीच पड़ोस के एक शख्स ने अब्दुल को एक रेलवे अधिकारी के घर पर देखा.

6 सालों से बंधक बना रहा पीड़ित

बताया जा रहा है कि हिल कॉलोनी के एक मकान में एक रेलवे अधिकारी ने उसे बंधक बनाकर रखा था. और उससे घर का सारा कामकाज करवाया जाता था. अब्दुल को घर से निकलने नहीं दिया जाता था. उसे हमेशा तालाबंद घर में रखा जाता था. उसके साथ मारता-पीटता भी की जाती थी.

इसे भी पढ़ें – आयुष्मान भारत की हकीकत : 90 हजार में बायपास सर्जरी और 9 हजार में सिजेरियन डिलेवरी

थाने में शिकायत दर्ज

बता दें कि आरोपी रेलवे अधिकारी उपेंद्र यादव डीआरएम कार्यालय में कार्यरत है. इधर अब्दुल के एक घर में बंधक बने होने की खबर पर परिजन उसके घर पहुंचे और जमकर हंगामा किया. वहीं मौके पर पहुंची धनबाद पुलिस ने माहौल को शांत कराया. उसके बाद अब्दुल सत्तार और उनके परिजनों को अपने साथ थाना ले आई. पीड़ित मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया जा रहा है. मामले को लेकर अब्दुल सत्तार के परिजनों ने धनबाद थाने में लिखित शिकायत की है.

इसे भी पढ़ें – अपनों पर सितम-गैरों पर रहम ! IAS अफसरों को तोहफा में रिटायरमेंट प्लान, टेकेनोक्रेट्स हो गये दरकिनार

Related Articles

Back to top button